vidhan sabha election 2017

शिमला में पेयजल परियोजनाओं से आपूर्ति नहीं होगी प्रभावित

Gulwant Thakur | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 5:20 PM IST
शिमला में पेयजल परियोजनाओं से आपूर्ति नहीं होगी प्रभावित
पानी सप्लाई के लिए लगाए जा रहे पंप.
Gulwant Thakur | News18Hindi
Updated: December 7, 2017, 5:20 PM IST
नगर निगम शिमला को शहर की सबसे बड़ी पेयजल परियोजना गुम्मा में पानी की आपूर्ति प्रभावित नहीं रहेगी. नगर निगम अम्रुत योजना के तहत परियोजना पर नए पम्प स्थापित कर रहा है. जो दस दिन के भीतर पूरा हो जाएगा.

करीब 2 करोड़ 80 लाख रुपए की लागत से लग रहे इन पंपों से शहर को अधिक पानी के साथ बिजली के भारी बिलों में भी कमी आएगी. लगभग 36 वर्ष पहले शुरू हुई गुम्मा पेयजल परियोजना के पंपों की क्षमता धीरे- धीरे कम हो रही है, जिसके चलते इनके स्थान पर नए पंपों को इंस्टाल करने का काम शुरू किया गया है.

ग्रेटर वाटर शिमला सर्कल के अधिशासी अभियंता धर्मेन्द्र गिल ने बताया कि नए पंपों के लगने से अब गुम्मा में अक्सर पंपों की रिपेयर की वजह से शटडाउन की वजह से पंपिंग प्रभावित नहीं होगी.

शहरवासियों को पानी की किल्लत का सामना नहीं करना पड़ेगा. नए पंपों के लगने से एक तो शहर को दो एमएलडी तक अधिक पानी मिल सकेगा. वहीं इनसे बिजली के भारी भरकम बिलों में भी कटौती होगी.

लगभग 20 एमएलडी तक पानी पहुंचाने के लिए पहले निगम के पंपों को पहले 24 घंटे चलाना पड़ता था. वहीं अब नए पंपों के लगने से ये नए पंप 16 घंटे में ही शहर के लिए 20 एमएलडी पानी पहुंचा सकेंगे. इससे एक तो बिजली की खपत कम होगी वहीं मशीनरी को भी कम चलाना पड़ेगा.

वहीं, रिपेयर के दौरान शटडाउन भी नहीं करना पड़ेगा.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर