ठंड, नशे से मौत और सियासत, ये हैं हिमाचल की सुर्खियां…

सीएम जयराम ठाकुर ने भाजपा सरकार के एक साल पूरे होने पर कांग्रेस की ओर से चार्जशीट जारी करने को लेकर कहा है कि शुरुआत करोगे तो करारा जवाब मिलेगा.

News18 Himachal Pradesh
Updated: December 25, 2018, 11:00 AM IST
ठंड, नशे से मौत और सियासत, ये हैं हिमाचल की सुर्खियां…
सांकेतिक तस्वीर.
News18 Himachal Pradesh
Updated: December 25, 2018, 11:00 AM IST
हिमाचल प्रदेश में जहां ठंड का सितम देखने को मिल रहा है. वहीं, नशा के बढ़ते मामले भी चिंता बढ़ाने वाले हैं. शिमला में नशे के ओवरडोज से युवक की मौत हुई है. इसके अलावा, पीएम मोदी के धर्मशाला दौरे को लेकर भी तैयारी जोरों पर हैं.

हिमाचल में नशे की ओवरडोज से कॉलेज छात्र समेत दो की मौत


अमर उजाला लिखता है कि हिमाचल में सरकार के तमाम दावों के बावजूद सिंथेटिक ड्रग्स और अन्य नशे से मौतों का सिलसिला थम नहीं रहा है। यहां नशे की ओवरडोज से 21 वर्षीय कॉलेज छात्र समेत दो लोगों की मौत हो गई। सोमवार को कोटखाई पुलिस को गुम्मा बाजार में हिमफेड के गोदाम के पास शिमला के कोटशेरा कॉलेज के 21 वर्षीय छात्र का शव बरामद हुआ है। शव के पास एक सिरिंज, चम्मच और कुछ दवाइयां मिली हैं। उधर, कोटखाई क्षेत्र के ही महासू में एक व्यक्ति का भी शव मिला है। नेपाल मूल का यह व्यक्ति शराब पीने का आदी थी। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस को अंदेशा है कि दोनों की मौत नशे की ओवरडोज से हुई है। कोटखाई अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद दोनों शव परिजनों को सौंप दिए हैं। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

दुबई में अब भी फंसे हैं दस हिमाचली

दैनिक जागरण ने लिखा है कि सऊदी अरब में काम करने की चाह में गए यह 13 हिमाचली युवकों में से सात जेल व तीन कंपनी मालिक के पास एक माह से फंसे हुए हैं। ये युवक स्वदेश लौटना चाहते हैं, लेकिन इनकी वापसी का कोई रास्ता नहीं दिख रहा। इस मामले में मंडी जिला से तीन व पंजाब से संबंध रखने वाले एक युवक की घर वापसी हो चुकी है। सुंदरनगर के हरजिंद्र सिंह, बल्ह उपमंडल के गांव डडोह के अश्वनी व बनौण के जोगेंद्र की घर वापसी ही हो पाई है। अन्य 10 बंधकों की रिहाई को लेकर सोमवार को बंधकों के परिजनों ने सुंदरनगर में न्याय की गुहार लगाई है।

अध्यक्ष-उपाध्यक्षों की मौज
दिव्य हिमाचल ने लिखा है कि जयराम सरकार के बोर्ड व निगमों के अध्यक्ष व उपाध्यक्षों की लॉटरी लग गई है। भारी भरकम कर्ज के बोझ तले दबी सरकार ने अपने अध्यक्षों व उपाध्यक्षों के मानदेय में दोगुना तक की बढ़ोतरी कर दी है। सरकार की संस्तुति पर वित्त विभाग ने इसे मंजूरी प्रदान कर दी है। सत्ता में आने के बाद जयराम सरकार पहले तो राजनीतिक नियुक्तियां करने से कतराती रही, लेकिन अब उसने अपने नियुक्त किए लोगों पर अच्छा खासा खर्चा करना भी शुरू कर दिया है। अपने एक साल के जश्न से पहले सरकार ने बोर्ड व निगमों के अध्यक्षों व उपाध्यक्षों को बड़ा तोहफा दिया है। इनके मानदेय में न केवल दोगुना बढ़ोतरी कर दी गई है, बल्कि इनके डेली अलाउंस व सत्कार भत्ते को भी अच्छा खासा बढ़ा दिया गया है। जानकारी के अनुसार बोर्ड व निगमों के अध्यक्षों या उपाध्यक्षों का मासिक मानदेय अब 30 हजार रुपए मासिक होगा। पहले यह मानदेय 15 हजार रुपए मासिक था, जिसे एक साथ दोगुना किया गया है। इसके साथ इनका डेली अलाउंस प्रदेश के भीतर 250 रुपए प्रतिदिन कर दिया गया है, जोकि पहले 200 रुपए प्रतिदिन का था। इतना ही नहीं इन अध्यक्षों व उपाध्यक्षों को राज्य से बाहर जाने पर 400 रुपए प्रतिदिन का अलाउंस मिलेगा, जोकि पहले तय नहीं था।जार्जशीट की शुरुआत की तो मिलेगा करारा जवाब- सीएम
पंजाब केसरी ने लिखा, सीएम जयराम ठाकुर ने भाजपा सरकार के एक साल पूरे होने पर कांग्रेस की ओर से चार्जशीट जारी करने को लेकर कहा है कि शुरुआत करोगे तो करारा जवाब मिलेगा. जयराम ने कहा कि वह व्यक्तिगत रूप से चाहते हैं कि चार्जशीट की प्रथा बंद होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें : सोने से भी महंगा है चिट्टा, एक ग्राम के देने होते हैं इतने रुपये

ठंड से जमने लगे हिमाचल में नदी-नाले, केलांग में रात का पारा माइनस 16 डिग्री तक लुढ़का

ठंड, नशे से मौत और सियासत, ये हैं हिमाचल की सुर्खियां…

Indian Idol-10: मां नहीं चाहती थी कि गायकी को पेशा बनाए हिमाचल का अंकुश, बना रनरअप

PHOTOS: क्रिसमस पर दुल्हन की तरह सजा उत्तरी भारत का सबसे पुरानी चर्च
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार