COVID-19: शिमला के मॉल रोड पर उड़ी कोरोना नियमों की धज्जियां, टीकाकरण के लिए उमड़ी भीड़

शिमला में मॉल रोड के पास उमड़ी भीड़.

शिमला में मॉल रोड के पास उमड़ी भीड़.

हिमाचल प्रदेश 31 प्रतिशत जनसंख्या का टीकाकरण कर देश के अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है. प्रदेश में अब तक लोगों को वैक्सीन की 21,50,353 खुराकें दी जा चुकी हैं. राज्य वैक्सीन भंडार-1 और क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार-2 सहित राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट स्थापित किए गए हैं.

  • Share this:

शिमला. दो गज दूरी है जरूरी. लेकिन हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के मालरोड पर मंगलवार को नहीं दिखी. यहां पर कोरोना टीकाकरण के लिए लोगों की भी उमड़ गई और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ गईं. दरअसल, हिमाचल में 45 साल व इससे अधिक आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण चल रहा है. इसके अलावा नए शामिल फ्रंट लाइन वर्करों का भी टीका लगाया जा रहा है.

टाउनलहाल में टीकाकरण केंद्र में मंगलवार को वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी और यहां पर हल्की धक्का मुक्की तक बात पहुंच गई थी.

वैक्सीनेशन के लिए कतार मे लगे लोग.

पुलिस के छुटे पसीने
लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. पुलिस के बार-बार मना करने पर भी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना लाइनों में लगे रहे. सोमवार को सीएम जयराम ने भी टीकाकरण केंद्रों में अनावश्यक भीड़ से बचने की अपील की थी, लेकिन इसका असर नजर नहीं आया. वैक्सीनेशन सेंटर पर फ्रंट लाइन वर्कर अधिक संख्या में वैक्सीन लगवाने आए थे और इनमें एमसी कर्मी समेत बैंक कर्मी शामिल रहे. इसके अलावा 45 या इससे अधिक आयु वर्ग के लोगों को भी टीका लगाया गया.


सूबे में 31 फीसदी आबादी वैक्सीनेट



हिमाचल प्रदेश 31 प्रतिशत जनसंख्या का टीकाकरण कर देश के अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है. प्रदेश में अब तक लोगों को वैक्सीन की 21,50,353 खुराकें दी जा चुकी हैं. राज्य वैक्सीन भंडार-1 और क्षेत्रीय वैक्सीन भंडार-2 सहित राज्य में 386 कोल्ड चेन प्वाइंट स्थापित किए गए हैं, जिनके माध्यम से इन टीकों का वितरण किया जा रहा है. वहीं, 17 मई को सूबे में 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभियान शुरू हुआ है. सप्ताह में दो दिन लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज