Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल में सेब सीजन शुरू होने वाला है, लेकिन ना लेबर है और ना ही कार्टन

हिमाचल में सेब सीजन शुरू होने वाला है, लेकिन ना लेबर है और ना ही कार्टन

हिमाचल में सेब का सीजन शुरू होने वाला है. (सांकेतिक तस्वीर)

हिमाचल में सेब का सीजन शुरू होने वाला है. (सांकेतिक तस्वीर)

गौरतलब है कि हिमाचल में 4 से पांच हजार करोड़ रुपये की सेब आर्थिकी है. ऊंचाई और ठंडे इलाकों में सेब की पैदावार की जाती है.

शिमला. कोरोना के चलते इस बार हिमाचल (Himachal Pradesh) की आर्थिकी की रीढ़ मानी जाने वाली बागवानी पर इस बार संकट के बादल मंडरा रहे हैं. ऐसा इसलिए है, क्योंकि एक तो किसानों को सेबों की तुड़ाई के लिए मज़दूर नहीं मिल रहे हैं और न ही मंडियों तक सेब (Apple) पहुंचाने का कोई रास्ता नज़र आ रहा है. सरकार ने भले ही किसानों को आश्वासन दिया है कि नेपाल (Nepal) से मज़दूर लाए जाएंगे, लेकिन अभी तक मज़दूरों को लाने की कवायद शुरू नहीं कि गई है.

जल्द शुरू होगा सीजन
हिमाचल के कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में करीब 15 दिनों में सेब सीजन शुरू होने वाला है. अब बागवानों को सेब तुड़ाई की चिंता सताने लगी है. बागवानों का कहना है कि सरकार बागवानों की समस्या को लेकर ढुलमुल रवैया अपनाए हुए है. आश्वासन देने के बाद अभी तक कोई कदम नहीं उठाया गया है.

अपर शिमला में सेब तैयार
हिमाचल में कम ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सेब की कुछ वैरायटी तैयार हो चुकी है. लेकिन सेब तुड़ान के लिए लेबर कहां से आए, बागवानों के सामने अब यह सबसे बड़ी समस्या है. यही नहीं, इसबार कोरोना के चलते कार्टन की उपलब्धता नहीं हो पा रही है. शिमला जिला में जुब्बल, नावर, कोटखाई और चौपाल जैसी जगहों का सेब उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश भेजा जाता है, लेकिन कोरोना के चलते न तो इंटर स्टेट मूवमेंट शुरू हुई है और न ही सेब मंडियां खुल पाई हैं.

दूसरे राज्यों से बातचीत नहीं
उत्तरप्रदेश की सहारनपुर ओर कानपुर स्थित मंडियां कोरोना के चलते बंद है. ऐसे में हिमाचल बॉर्डर के साथ जिन बागवानों के बागीचे हैं, वो कहाँ सेब बिक्री के लिए जाएंगे. प्रदेश सरकार की ओर से भी उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश सरकार के साथ कोई बात नहीं की गई है. ऐसे में बागवान ठगा सा महसूस कर रहे हैं. गौरतलब है कि हिमाचल में 4 से पांच हजार करोड़ रुपये की सेब आर्थिकी है. ऊंचाई और ठंडे इलाकों में सेब की पैदावार की जाती है.

Tags: Apple, Himachal pradesh, Shimla, \

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर