आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने चौकी प्रभारी को पीटा, 13 महिलाएं गिरफ्तार
Shimla News in Hindi

आरोपी की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज ग्रामीणों ने चौकी प्रभारी को पीटा, 13 महिलाएं गिरफ्तार
पुलिस द्वारा युवक की हत्या के आरोपी की गिरफ्तारी में आनाकानी करने से नाराज ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा (फोटो: वीडियो ग्रैब)

कांगड़ा (Kangra) के देहरा के डाडासीबा पुलिस चौकी इंचार्ज एएसआई चिरंजी लाल से मारपीट मामले में पुलिस ने आरोपी ग्रामीण महिलाओं पर केस दर्ज कर रविवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया. जहां से सभी 13 महिलाओं को तीन दिन की पुलिस रिमांड (Police Remand) में भेज दिया गया है

  • Share this:
कांगड़ा. एक ओर जहां पुलिस को कोरोना वॉरियर (Corona Warrior) का खिताब दिया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ खाकी वर्दी वालों की सरेआम पिटाई कर जनता उनके खिलाफ अपना गुस्सा भी निकाल रही है. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कांगड़ा (Kangra) में ऐसी ही एक घटना सामने आई है जहां महिलाओं ने सरेआम पुलिसकर्मी की पिटाई कर डाली. दरअसल एक मर्डर केस (Murder Case) की तफ्तीश कर रही पुलिस जिस युवक की हत्या की गई थी उसकी आरोपी पत्नी को गिरफ्तार करने में आनाकानी कर रही थी. इससे नाराज ग्रामीण महिलाओं ने एक एएसआई पर धावा बोल दिया और उसकी जमकर पिटाई की. इस मामले में कांगड़ा जिले के देहरा की ग्राम पंचायत टिप्परी की 13 महिलाओं को जेल की हवा खानी पड़ी. इस घटना में शामिल महिलाओं में वो महिला भी शामिल है जिस पर अपने पति के मर्डर का आरोप है.

कांगड़ा के देहरा के डाडासीबा पुलिस चौकी इंचार्ज एएसआई चिरंजी लाल से मारपीट मामले में पुलिस ने आरोपी ग्रामीण महिलाओं पर केस दर्ज कर रविवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया. जहां से सभी 13 महिलाओं को तीन दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. एसएचओ देहरा अश्विनी कुमार ने इसकी जानकारी दी.

रास्ते में पुलिस प्रभारी से मारपीट



बता दें कि शुक्रवार की सुबह पुलिस को सूचना मिली थी कि मृतक के परिजन और उसके रिश्तेदार पुलिस चौकी में शव को लेकर धरना-प्रदर्शन करने आ रहे हैं. इसकी सूचना मिलने पर चौकी इंचार्ज एएसआई चिरंजी लाल ने प्रयास किया कि वो वापस अपने गांव लौट जाएं. ऐसा करने के लिए चौकी इंचार्ज थाने से गांव के लिए निकल गए. रास्ते में अप्पर भलवाल में उन्होंने मृतक के परिजनों और रिश्तेदारों के वाहनों को रोका और उनसे बात करने की कोशिश की. इससे ग्रामीण उत्तेजित हो गए और उन्होंने एएसआई चिरंजी लाल के साथ मारपीट की और उनकी वर्दी पर छीनाझपटी की. साथ ही उनका सरकारी मोबाइल फोन को भी छीन लिया.
क्या है पूरा मामला?

दरअसल, गुरुवार को कांगड़ा के ब्लाक खंड परागपुर के तहत ग्राम पंचायत टिप्परी गांव लुसियार में 35 साल के एक युवक की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी. मृतक के सात साल के बेटे ने बताया कि उसकी मां ने गांव के ही एक व्यक्ति के साथ मिलकर उसके पिता की हत्या की है. इस मामले में पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगे थे. लोगों और परिजनों की मांग थी कि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार कर. लेकिन कार्रवाई ना होने पर लोग आगबबूला हो गए और उन्होंने जमकर बवाल काटा.

डीएसपी देहरा रणधीर सिंह ने खबर की पुष्टि करते हुए कहा कि डाडासीबा पुलिस चौकी इंचार्ज से मारपीट मामले में पुलिस ने ग्रामीणों पर केस दर्ज कर उन्हें देहरा सब जज कोर्ट में पेश किया था. जहां से आरोपी पत्नी समेत 13 महिलाओं को तीन दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading