लाइव टीवी

हिमाचल में PHC-अस्पतालों में मुफ्त होंगे 56 तरह के टेस्ट, फ्री मिलेंगी 450 दवाएं
Shimla News in Hindi

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 13, 2020, 3:28 PM IST
हिमाचल में PHC-अस्पतालों में मुफ्त होंगे 56 तरह के टेस्ट, फ्री मिलेंगी 450 दवाएं
हिमाचल में 450 दवाएं अस्पतालों में फ्री मिंलेंगी.

एसीएस हेल्थ आरडी धीमान ने कहा कि हिमाचल में आयुष्मान भारत के साथ-साथ हिमकेयर और सहारा योजना भी प्रभावी ढंग से चल रही है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में फ्री-डायग्नोस्टिक सर्विस स्कीम (Free Diagnostic Service Scheme) शुरू होने जा रही है. सरकार ने स्कीम को लांच करने की तैयारियां तेज कर दी हैं. अब लोगों के 56 प्रकार के टेस्ट मुफ्त में होंगे. वहीं, 450 दवाएं (Medicine) मुफ्त मिलेंगी.

दरअसल, एक साल की देरी के बाद फ्री डायग्नोस्टिक सर्विस स्कीम हिमाचल में शुरू हो रही है. बीते साल एनएचएच(NHM) ने कुछ कंडीशन्स लगा दी थी. इस वजह से इसे हिमाचल में शुरू नहीं किया जा सका. अब भारत सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद 56 प्रकार के टेस्ट मुफ्त करवाने को हरी झंडी मिल गई है. पीएचसी (PHC) से लेकर मेडिकल कालेजों तक ये टेस्ट फ्री में होंगे.

पूरी आबाजी होगी कवर
हालांकि, पहले यह सेवा 11 कैटेगरी में दी जानी थी, लेकिन अब हिमाचल की पूरी आबादी इसमें कवर होंगी. अतिरिक्त मुख्य सचिव आर डी धीमान ने न्यूज 18 के साथ बातचीत में इसकी पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि इसे योजना से गरीबों की जेब पर पड़ने वाला अतिरिक्त भार कम होगा. इसमें अल्ट्रासाउंड, एक्सरे, ईसीजी, किडनी, लीवर, शुगर सहित खून से संबंधित टेस्ट फ्री में होंगे.

रिवाइज हुई दवाओं की लिस्ट
अस्पतालों में मिलने वाली मुफ्त दवाइयों की सूची को भी सरकार ने रिवाइज किया है. पहले 330 दवाइयां मुफ्त मिल रही थी अब उन्हें बढ़ाकर 450 किया गया है. दवा कंपनियों के साथ रेट कांट्रेक्ट भी नए सिरे से होंगे, जिसके लिए टेंडर कॉल किया गया है. एसीएस हेल्थ आरडी धीमान ने कहा कि फ्री ड्रग पॉलिसी के तहत सूची को अपडेट किया गया है. लोगों को पीएचसी से लेकर मेडिकल कालेजों तक मुफ्त दवाइयां सरकार उपलब्ध करवा रही है. अब इनकी संख्या बढ़ा दी गई है. गौरतलब है कि जिन दवा कंपनियों के साथ रेट कांट्रेक्ट होगा, उनमें वे ही कंपनियां भाग ले पाएंगी, जो डल्ब्यू एचओ-जीएमपी प्रमाणपत्र धारक होंगी.

यह भी बोले अधिकारीएसीएस हेल्थ आरडी धीमान ने कहा कि हिमाचल में आयुष्मान भारत के साथ-साथ हिमकेयर और सहारा योजना भी प्रभावी ढंग से चल रही है. आयुष्मान भारत योजना के तहत करीब 32 प्रतिशत आबादी कवर है और प्रदेश की हिमकेयर योजना के तहत 35 प्रतिशत आबादी को कवर किया गया है. सहारा योजना के तहत पैरालिसिस, थैलेसिमया सहित कई गंभीर बीमारियों के मरीजों को हर महीने 2 हजार रुपये आर्थिक मदद दी जा रही है. इससे लोगों की जेब पर पड़ने वाला भार कम हुआ है. गंभीर बीमारी में पीड़ित व्यक्ति और परिवार आर्थिक बोझ में दब जाता था, जिस पर अब रोक लग गई है.

आरडी धीमान के मुताबिक, पहले साल में 20 से 22 करोड़ रूपये ही स्वास्थ्य विभाग खर्च करता था, लेकिन अब आयुष्मान भारत और हिमकेयर योजना के तहत 120 करोड़ रूपये इस वित्त वर्ष के अंत तक खर्च होगा.

ये भी पढ़ें:हिमाचल के बिलासपुर की बेटी रश्मि चंदेल बनी सिविल जज, झारखंड में देंगी सेवाएं

दो बच्चों को हुआ स्वाइन फ्लू, IGMC में भर्ती, अब तक 7 मामले सामने आए

हिमाचल पुलिस के जवान ने महिला पुलिस कर्मी के इनरवियर पर लिखे अश्लील शब्द, FIR

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 3:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर