अपना शहर चुनें

States

शिमला में फिर पेयजल संकट: शहर में एक दिन छोड़कर आएगा पानी

हिमाचल का शिमला शहर (सांकेतिक तस्वीर)
हिमाचल का शिमला शहर (सांकेतिक तस्वीर)

शिमला को पानी की सप्लाई करने वाली गिरी व गुम्मा दोनो महत्वपूर्ण परियोजनाएं है. गुम्मा से जहां 22 एमएलडी के करीब शहर को पानी आता है तो वहीं गिरी परियोजना की क्षमता करीब 18 एमएलडी के पास है. गिरी परियोजना की पाइपें टूटने से शिमला शहर के लिए पानी की सप्लाई काफी कम हो गई है.

  • Share this:
शिमला. गर्मियों (Summers) का मौसम शुरु होने से पहले शिमला (Shimla) में पेयजल संकट (Water Crisis) गहरा गया है. ऐसा शहर की मुख्य पेयजल परियोजना गिरी की पाइप लाइन टूटने से हुआ है. दो दिन पूर्व गिरी परियोजना में मशोबरा के समीप लैंड स्लाइड होने से करीब 50 मीटर पानी की पाइप लाइन (Pipeline) टूट गई है, जिसके चलते शहरवासियों को एक दिन बाद ही पीने का पानी मिल रहा है.

गुरुवार को केवल यहां आएगा पानी
जल निगम का दावा है कि पानी की आपूर्ति करने वाली मुख्य परियोजना गिरी की टूटी हुई पाइपों को जोडऩे का काम पूरा हो गया है. ऐसे में अब पंपिंग लाइन की टेस्टिंग की जा रही है. टैस्टिंग के सफल होने के बाद ही शहर के लिए गिरी से दोबारा पानी की सप्लाई आएगी. गुरुवार को निगम शहर के संजौली जोन, सेन्ट्रल जोन, न्यू शिमला जोन, छोटा शिमला, लक्कड़बाज़ार और चौड़ा मैदान जोन में पानी की आपूर्ति करेगा.

गुरुवार को आधे शहर में नहीं आएगा पानी
फिलहाल, शहर में पानी की सप्लाई अभी भी एक दिन छोड़कर आएगी. गुरुवार को भी आधे शहर में पानी की सप्लाई नहीं आएगी. ऐसे में लोगों को परेशानियों से दो - चार होना पड़ सकता है. मशोबरा के समीप बखेलटी में सड़क निर्माण के दौरान भूस्खलन के कारण गिरी परियोजना की 3 से 4 पाइपें टूट गई थी. इन पाइपों के टूटने से पंपिंग स्टेशन से शिमला शहर के लिए पानी की सप्लाई बंद हो गई है.



पानी की सप्लाई कम हुई
इससे पहले, जहां शहर में रोजाना 50 एमलएलडी से ज्यादा पानी की सप्लाई आती थी, तो वहीं परियोजना के बंद होने से शहर में पानी की सप्लाई घटकर 33 एमएलडी के करीब आ गई है. ऐसे में कंपनी को शहर में एक दिन छोड़कर पानी की सप्लाई देनी पड़ रही है.

ये दो अहम परिजयोजनाएं
शिमला को पानी की सप्लाई करने वाली गिरी व गुम्मा दोनो महत्वपूर्ण परियोजनाएं है. गुम्मा से जहां 22 एमएलडी के करीब शहर को पानी आता है तो वहीं गिरी परियोजना की क्षमता करीब 18 एमएलडी के पास है. गिरी परियोजना की पाइपें टूटने से शिमला शहर के लिए पानी की सप्लाई काफी कम हो गई है.

ये भी पढ़ें: शादी समारोह में जा रहे 2 भाईयों पर गिरे पत्थर, एक की मौत, दूसरा घायल

हिमाचल में बदला मौसम, 3 दिन तक भारी बारिश और बर्फबारी के आसार

हिमाचल बजट सत्र: आउटसोर्स कर्मियों के मुद्दे पर कांग्रेस का सदन से वॉकआउट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज