जाखू के अलावा शिमला में बनेगा अधर में लटका एक और रोपवे, वन विभाग ने दी मंजूरी

Rope way in Shimla: बस स्टैंड टूटीकंडी के क्रॉसिंग से जोधा निवास तक सैलानी रोप-वे के जरिए पहुंचेंगे.

News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2019, 6:37 PM IST
जाखू के अलावा शिमला में बनेगा अधर में लटका एक और रोपवे, वन विभाग ने दी मंजूरी
शिमला में फिलहाल जाखू मंदिर के लिए रोपवे की सुविधा है.
News18 Himachal Pradesh
Updated: September 12, 2019, 6:37 PM IST
शिमला. पहाड़ों की रानी शिमला (Shimla) में पर्यटकों और स्थानीय लोगों की सुविधा के लिए जल्द की एक और रोपवे का निर्माण किया जाएगा. पांच सालों से अधर में लटके पड़े रोपवे (Ropeway) प्रोजेक्ट को लेकर वन विभाग से फारेस्ट क्लीयरेंस मिल चुकी है.

टूटीकंडी-जोधा निवास रोप-वे को लेकर फॉरेस्ट क्लीयरेंस की मंजूरी मिल चुकी है. अब बाकी बचे विभागों से मंजूरी लेने के लिए सरकार (Himacha Govt) ने पत्र लिखकर जल्द मंजूरी प्रदान करने की मांग की है. सरकार ने एयरपोर्ट अथॉरिटी, रेलवे और सीपीडब्ल्यूडी से भी जल्द मंजूरी ली जाएगी. मंजूरी मिलने के बाद जल्द ही रोप का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा.

पांच साल से लटका प्रोजेक्ट
टूटीकंडी-जोधा निवास रोप-वे प्रोजेक्ट का शिलान्यास पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) ने जून 2015 में किया था, लेकिन विभिन्न विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र न मिलने से इस प्रोजेक्ट का कार्य पांच साल बाद भी अधर में पड़ा हुआ है. रोपवे का निर्माण टूटीकंडी, फेयरहिल होटल के पास, लिफ्ट और जोधा निवास में जोड़ा जाएगा. रोपवे के बनने से पर्यटक दस मिनट के भीतर आईएसबीटी बस स्टैंड से जोधा निवास पहुंच सकेंगे, जिससे शिमला शहर की खूबसूरती में एक और आकषर्ण का केंद्र जुड़ जाएगा.

250 करोड़ का प्रोजेक्ट
ऊषा ब्रैको कंपनी द्वारा निर्मित हो रहे करीब साढ़े तीन किलोमीटर लंबे रोप-वे के निर्माण पर 250 करोड़ की राशि खर्च की जानी है. पीपीपी मोड़ पर बन रहे इस रोपवे से निगम को एक साल में करीब 11 करोड़ रुपये की आय का अनुमान है. नगर निगम संयुक्त आयुक्त अनिल शर्मा ने बताया कि शहर में बनने वाले रोपवे प्रोजेक्ट को लेकर फारेस्ट क्लीयरेंस मिल चुकी है. अब बाकी तीन विभागों से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेना है, जिसके लिए सरकार की ओर पत्र लिखकर जल्द मंजूरी मिल जाएगी. उन्होंने बताया कि अनापत्ति पत्र मिलने के बाद जल्द ही कार्य शुरु किया जाएगा.

पेड़ों को कटने से बचाएंगे
Loading...

रोपवे प्रोजेक्ट में आने वाले करीब पांच सौ पेड़ों को कटने से बचाने के लिए रोप-वे के टावरों की ऊंचाई बढ़ाई जाएगी. इसके लिए टावरों के बेसमेंट के दायरे में भी बढ़ोतरी होगी. कंपनी को राजस्व दस्तावेज सौंप दिए गए हैं. पटवारियों ने भी मौके का मुआयना किया है.

ट्रैफिक से मिलेगी निजात
शिमला आने वाले सैलानियों के लिए यह रोप-वे न सिर्फ आकर्षण का केंद्र होगा, बल्कि टूरिस्ट सीजन में लगने वाले ट्रैफिक जाम से भी शहर के लोगों को राहत दिलाएगा. शहर के प्रवेश द्वार पर बन रही बहुमंजिला पार्किंग में सैलानियों के वाहन पार्क होंगे और टूटीकंडी क्रॉसिंग से जोधा निवास तक सैलानी रोप-वे के जरिए पहुंचेंगे.

ये भी पढ़ें: जल्दी नहीं, हिमाचल में अध्ययन के बाद लागू होगा नया मोटर वाहन एक्ट: सीएम

नवविवाहित बेटी को ससुराल छोड़ लौट रहे पिता की सड़क हादसे में मौत, 2 घायल

वायरल लेटर पर विपिन सिंह परमार ने कहा, घिनौनी चाल चलने वाले जल्द होंगे बेनकाब

हिमाचल में सामान्य से कम बरसा मॉनसून, सितंबर अंत में होगा रुखसत

मां ने फोन पर बात करने से रोका तो 8वीं की छात्रा ने लगाया फंदा, मौत

युवक को सांप ने डंसा तो इलाज कराने के बजाए बनाया VIDEO, मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 6:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...