विपक्ष ने सरकार पर खनन माफिया को संरक्षण देने का लगाया आरोप, सीएम ने कहा- सवाल ही नहीं उठता

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 25, 2019, 3:31 PM IST
विपक्ष ने सरकार पर खनन माफिया को संरक्षण देने का लगाया आरोप, सीएम ने कहा- सवाल ही नहीं उठता
नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार माफियाओं के खिलाफ तुरंत एक्शन ले

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश सरकार पर सवाल उठाए हैं और पूछा है कि ऊना जिला में आखिर किसके संरक्षण में खनन माफिया चल रहा है.

  • Share this:
हिमाचल में माफियाओं पर एक बार फिर सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच सियासी तीर चलने शुरू हो गए हैं. हिमाचल विधानसभा (Himachal Assembly) में अवैध शराब (Illegal Liquor) मामले के बहाने खनन, वन माफिया पर भी सवाल उठे थे. वहीं अब सदन के बाहर भी यह मुद्दा सियासी रंग ले रहा है. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri) ने प्रदेश सरकार पर सवाल उठाए हैं और पूछा है कि ऊना जिला में आखिर किसके संरक्षण में खनन माफिया (Mining Mafia) चल रहा है. बीजेपी (BJP) अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती (Satpal Singh Satti) पर भी उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि वो इन दिनों कुछ तस्वीरें दिखाते फिर रहे हैं, उससे कुछ नहीं होगा.



सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि अगर सरकार में माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का दम है तो तुरंत एक्शन लें. हर रोज स्वां नदी से सैकड़ों ट्रक अवैध खनन हो रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस (Congress) विधायक दल हर तरह के माफिया के खिलाफ है.

सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार किसी भी तरह के माफिया को संरक्षण नहीं दे रही है.


वहीं सीएम जयराम ठाकुर (Jai Ram Thakur) ने कहा कि किसी भी प्रकार के माफिया को सरकार का संरक्षण नहीं है. उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि सरकार की ओर से माफियाओं को संरक्षण देने का सवाल ही पैदा नहीं होता है. उन्होंने कहा कि उनके ध्यान में कुछ विषय लाए गए हैं और आने वाले समय में उन मामलों पर कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें - चिट्टे का मुख्य सप्लायर भी चढ़ा पुलिस के हत्थे

ये भी पढ़ें - उपचुनाव में बीजेपी नहीं उतारेगी बाहरी उम्मीदवार- सतपाल सत्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 12:41 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...