हिमाचल कैबिनेट विस्तार: जिस विभाग में कभी JE थे, उसी की जिम्मेदारी संभालेंगे मंत्री सुखराम चौधरी
Shimla News in Hindi

हिमाचल कैबिनेट विस्तार: जिस विभाग में कभी JE थे, उसी की जिम्मेदारी संभालेंगे मंत्री सुखराम चौधरी
सिरमौर के पांवटा साहिब से मंत्री बने सुखराम चौधरी.

सुखराम चौधरी का जन्म 15 अप्रैल 1964 को किसान पिता स्व. तुलसी राम चौधरी और माता स्व. जैदो देवी के घर में हुआ. ग्राम पंचायत अमरगढ़ तहसील पांवटा साहिब के रहने वाले मंत्री चौधरी ने इलेक्ट्रिकल में आईटीआई डिप्लोमा किया है. शशिबाला से उनकी शादी से हुई है, जो वर्तमान में टीजीटी आर्टस की अध्यापिका हैं. इनकी तीन बेटियां गीताजंली चौधरी, अनुराधा चौधरी व नवनीत चौधरी हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में कैबिनेट विस्तार (Cabinet Expansion) के बाद अब मंत्रियों को विभाग भी बांटे गए हैं. पुराने मंत्रियों के विभागों में भी फेरबदल किया गया है. सिरमौर जिले से नवनियुक्त मंत्री सुखराम चौधरी (Sukhram Chaudhary) को बिजली मंत्री बनाया गया है. उन्हें ऊर्जा मंत्रालय सौंपा गया है. दिलचस्प बात है कि वह कभी जिस विभाग में नौकरी (Job) करते थे, उसी का जिम्मा अब उन्हें मिला है.

नौकरी छोड़कर लड़ा था विधानसभा चुनाव
सुखराम चौधरी ने हिमाचल प्रदेश विद्युत बोर्ड में 1982 से नौकरी की शुरुआत की और 16 साल नौकरी करने के बाद साल 1998 में नौकरी छोड दी थी. उस दौरान वह जेई थे. नौकरी छोड़ने के बाद वह भाजपा में शामिल हुए. लंबे समय से आरएसएस से जुड़े रहे सुखराम चौधरी ने पहला चुनाव 1998 में ही लड़ा था, लेकिन वह जीत नहीं पाए थे. सिरमौर भाजपा के जिला अध्यक्ष बने तथा भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे और भाजपा उपाध्यक्ष जिम्मेदारी भी निभाई.

अपने परिवार के साथ सुखराम चौधरी.

2003 में पहली बार जीते


सुखराम चौधरी साल 2003 में पहली बार पांवटा साहिब से भाजपा विधायक बनकर विधानसभा पहुंचे. साल 2007 में दोबारा विधायक बने और भाजपा की सरकार में 9 जुलाई 2009 से दिसंबर 2012 तक मुख्य संसदीय सचिव रहे. हालांकि, साल 2012 विधानसभा चुनाव में सुखराम चौधरी हार गए. बाद में साल 2017 में तीसरी बार पांवटा साहिब से विधायक निर्वाचित हुए. अब पांवटा साहिब से तीसरी बार विधानसभा पहुंचने के बाद सुखराम हलके से मंत्री बनने वाले पहले विधायक हैं.

लीड दिलाने का इनाम
सुखराम चौधरी ने गत वर्ष हुए लोकसभा चुनाव में शिमला संसदीय सीट से भाजपा प्रत्‍याशी सुरेश कश्यप को 27000 मतों की लीड दिलाई थी. इस दौरान सीएम ने कहा था कि जो सबसे अधिक लीड दिलाएगा, उसकी मंत्री बनने की संभावनाएं ज्यादा हैं.

कौन कौन है परिवार में
सुखराम चौधरी का जन्म 15 अप्रैल 1964 को किसान पिता स्व. तुलसी राम चौधरी और माता स्व. जैदो देवी के घर में हुआ. ग्राम पंचायत अमरगढ़ तहसील पांवटा साहिब के रहने वाले मंत्री चौधरी ने इलेक्ट्रिकल में आईटीआई डिप्लोमा किया है. शशिबाला से उनकी शादी से हुई है, जो वर्तमान में टीजीटी आर्टस की अध्यापिका हैं. इनकी तीन बेटियां गीताजंली चौधरी, अनुराधा चौधरी व नवनीत चौधरी हैं.

मंत्री बनने के बाद नाहन पहुंचे सुखराम चौधरी.
मंत्री बनने के बाद नाहन पहुंचे सुखराम चौधरी.


भाजपा कार्यकर्ताओं ने सर्किट हाउस में किया भव्य स्वागत

मंत्री बनने के बाद पहली बार गृह जिला पहुँचे केबिनेट मंत्री सुखराम चौधरी का भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा नाहन में भव्य स्वागत किया गया. इस दौरान उनके साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप भी मौजूद रहे. शपथ ग्रहण करने के बाद भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष का भी यह अपने जिला में पहला दौरा था. मंत्री सुखराम चौधरी ने भी शीर्ष नेतृत्व का आभार जताया और उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप के नेतृत्व में जिला सिरमौर के लोगों की समस्याओं के समाधान करने का भी आश्वासन दिया. उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जिला सिरमौर में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकाल में विकास के काम हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading