HRTC पेपर लीक केस: पक्की नौकरी के चक्कर में आरोपी ने तैयार किया था प्लान, धरा गया

गिरफ्तार आरोपी का सेंटर कांगड़ा के शाहपुर के एक नामी निजी संस्थान में था.
गिरफ्तार आरोपी का सेंटर कांगड़ा के शाहपुर के एक नामी निजी संस्थान में था.

पुलिस को आरोपी ने बताया कि वह रोहड़ में एचआरटीसी के किसी ठेकेदार के पास काम करता था. कई बार बुकिंग का काम भी करता था. पक्की नौकरी की चाहत में उसने पेपर लीक किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 8:07 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल (Himachal) में एचआरटीसी कंडक्टर भर्ती परीक्षा का प्रश्न-पत्र लीक (Question paper leaked) होने के मामले की जांच में शिमला पुलिस (Shimla Police) जुटी है. इस मामले के आरोपी लक्की शर्मा को आज पुलिस ने अदालत में पेश किया. कोर्ट ने आरोपी को 1 दिन के पुलिस रिमांड (Police remand) पर भेजा. इस बाबत एसपी मोहित चावला ने कहा कि मामले से जुड़े हर पहलू की तफ्तीश की जा रही है. आरोपी के मोबाइल को फोरेंसिक लैब भेजा गया है. आरोपी ने अपने जिस भाई के प्रश्न-पत्र की फोटो खींची है, उसको भी तफ्तीश में शामिल किया जाएगा. एसपी ने कहा कि इस मामले पर कांगड़ा पुलिस (Kangra Police) भी लगातार संपर्क में है.

पक्की नौकरी की चाह में किया पेपर लीक

पुलिस की अब तक पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वो रोहड़ में एचआरटीसी के किसी ठेकेदार के पास काम करता था. ये भी पता चला है कि आरोपी अभ्यर्थी एचआरटीसी से संबंधित काम किया करता था और कई बार बुकिंग का काम भी करता था. पक्की नौकरी की चाहत में उसने पेपर लीक किया. अब पुलिस आरोपी से और पूछताछ कर पता लगाएगी कि आखिर कैसे वह मोबाइल लेकर परीक्षा केंद्र के भीतर दाखिल हुआ. इस खेल में और कितने लोग शामिल हैं, इसका भी पता लगाया जाएगा.



3 अंकों से मिली लीड, कांगड़ा कनेक्शन का पता चला
जानकारी के मुताबिक, शिमला पुलिस ने शुरुआती जांच में जब आरोपी का फोन खंगाला तो एक फोटो से बड़ी लीड मिली. फोटो में एक अभ्यर्थी की ओएमआर शीट नजर आई, लेकिन उसमें केवल डेट ऑफ बर्थ नजर आ रही थी, वह भी केवल तीन डिजिट. केवल 13.0 नजर आ रहा था. इस लीड पर पुलिस ने कर्मचारी चयन आयोग को संपर्क किया और लगभग 58 हजार अभ्यर्थियों के आवेदन को खंगाला. पुलिस को एक अभ्यर्थी मनोज कुमार का पता चला जिसका सेंटर कांगड़ा के शाहपुर के एक नामी निजी संस्थान में था. इसके आधार पर शिमला पुलिस ने कांगड़ा पुलिस से संपर्क किया, जिस पर कांगड़ा ने पुलिस ने शुरुआती कार्रवाई अमल में लाई.

ये है मामला

शिमला में रविवार को एपीजी यूनिवर्सिटी स्थित परीक्षा केंद्र में पेपर के दौरान एक अभ्यर्थी मोबाइल लेकर पहुंचा था. इस अभ्यर्थी ने अपने मोबाइल से प्रश्न-पत्र की तस्वीरें खींची और अपने भाई को भेजी. मोबाइल से तस्वीरें खींचते वक्त निरीक्षक ने उसे पकड़ लिया था. अभ्यर्थी मौके से फरार होने में कामयाब हो गया था. केंद्र ने इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस तुंरत मौके पर पहुंची थी. देर शाम पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज