Home /News /himachal-pradesh /

police paper recruitment leak dgp claims wires are connected to 10 states history sheeter to transporter involved ssp

हिमाचल डीजीपी का दावा- 10 राज्यों से जुड़े हैं भर्ती लीक के तार, हिस्ट्रीशीटर से लेकर ट्रांसपोर्टर तक शामिल

हिमाचल प्रदेश पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में शिमला में डीजीपी संजय कुंडू ने प्रेस क्रॉन्फ्रेंस की है.

हिमाचल प्रदेश पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में शिमला में डीजीपी संजय कुंडू ने प्रेस क्रॉन्फ्रेंस की है.

Himachal Police Paper Leak Case: डीजीपी संजय कुंडू ने दावा किया है कि इस मामले में अब तक की सबसे बड़ी जांच हो रही है. 10 राज्यों से इस केस के तार जुड़े हैं, इसमें अभी और गिरफ्तारियां होना बाकी हैं. एक अभ्यर्थी पेपर हासिल करने के बावजूद पास नहीं हो पाया है. मंडी के आरोपी ने एक स्थानीय स्तर पर एक क्रिकेट टीम भी बनाई है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है. हिमाचल पुलिस का दावा है कि इस खेल को उन लोगों ने अंजाम दिया है, जिन लोगों का काम ही पेपर लीक करना है. कई सारे गिरोह इसमें शामिल हैं और सभी शातिर खिलाड़ी हैं. इस पूरे मामले में अब तक पुलिस ने 116 अभ्यर्थी, 9 अभिभावक और 46 एजेंटों समेत कुल 171 लोगों को गिरफ्तार किया है.

राजधानी शिमला में पुलिस मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में डीजीपी संजय कुंडू और इस मामले पर बनाई गई एसआईटी के चीफ आईपीएस अधिकारी मधुसूदन ने दी. डीजीपी ने बताया कि इन 171 में हिस्ट्रीशीटर और इंजीनियर से लेकर ट्रांसपोर्टर तक लोग शामिल हैं. इनमें मंडी के रहने वाले एक आरोपी ने तो स्थानीय स्तर पर एक क्रिकेट टीम भी बनाई है.

पुलिस का कहना है कि 10 राज्यों में इस मामले की जांच की गई, इस मामले की जांच अभी जारी है. मामले की जांच कर रही एसआईटी के प्रमुख मुधसूधन ने भी मीडिया को प्वाइंट दर प्वाइंट जानकारी दी.

116 आरोपी अभ्यर्थी नहीं दे सकेंगे परीक्षा 

इस दौरान डीजीपी ने कहा कि पुलिस कांस्टेबल भर्ती की लिखित परीक्षा में 116 आरोपी अभ्यर्थी नहीं बैठ सकेंगे. आरोपियों के खिलाफ एक सप्ताह के भीतर अदालत में चार्जशीट दाखिल की जाएगी. उन्होंने बताया कि हिमाचल के नौ जिलों से आरोपियों को गिरफ्तारियां हुई है. पंजाब, हरियाणा, बिहार, यूपी, उत्तराखंड, राजस्थान जैसे राज्यों तक इस पेपर लीक कांड का जाल फैला हुआ है.

पुलिस अफसरों पर भी होगी कार्रवाई: एसआईटी चीफ

न्यूज 18 के सवाल के जवाब में मधूसधन ने कहा कि मामले में अब तक पुलिस अधिकारियों की संलिप्तता नहीं पाई गई है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि पुलिस अफसरों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी. अगर किसी भी स्तर पर पुलिस का रोल सामने आया तो कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि अभी जांच चल रही है. डीजीपी ने बताया कि राजस्थान में इनकम टैक्स का अफसर और उसकी बीवी भी पेपर लीक में शामिल हैं. इनकम टैक्स का अफसर फरार है, जबकि उसकी पत्नी गर्भवती है और इस वजह से उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

पुलिस ने ये भी खुलासा किया कि इनमें से एक अभ्यर्थी ऐसा था जिसने पेपर खरीदा, पैसे भी खर्चे लेकिन फिर भी पास नहीं हो पाया. एसआईटी चीफ ने साफ कहा कि इस मामले की जांच में अभी और समय लगेगा. उन्होंने कहा कि इस मामले में कई लोग अभी भी वांटेड हैं. उन्होंने इस मामले में शामिल लोगों को कहा वो जहां भी हैं आकर सरेंडर कर दें, अगर ऐसा नहीं करते हैं तो पुलिस उन तक पहंच ही जाएगी.

25 लोग ऐसे थे, जो अंतरराज्यीय गिरोहों से संबद्ध थे

कुंडू ने कहा कि अब तक गिरफ्तार लोगों में 25 लोग ऐसे थे जो अन्य राज्यों के विभिन्न अंतरराज्यीय गिरोहों से संबद्ध थे. इसके अलावा रेलवे में खंड अभियंता राजीव यादव को भी गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि गिरफ्तार किए गए 171 लोगों में 116 उम्मीदवार, उनमें से नौ के पिता और हिमाचल प्रदेश के 21 एजेंट शामिल हैं. उनके तौर-तरीकों के बारे में डीजीपी ने कहा कि प्रिंटिंग प्रेस के कुछ कर्मचारी पेपर लीक गिरोह के सदस्य थे.

बता दें कि 27 मार्च को आयोजित की गई लिखित परीक्षा पेपर लीक होने की वजह से रद्द कर दिया गया था. 1334 पदों पर कॉन्सटेबल भर्ती के लिए अब 3 जुलाई को दोपहर 12 से 1:00 बजे तक लिखित परीक्षा होगी. इस मामले पर राज्य सरकार ने सीबीआई जांच की सिफारिश भी की थी लेकिन अब तक सीबीआई ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है.

Tags: Himachal news, Paper Leak, Shimla News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर