हिमाचल में 2 मार्च से शुरू होगी प्री-पेड टैक्सी सर्विस, ऑपरेटर्स ने परिवहन मंत्री से की शिकायत
Shimla News in Hindi

हिमाचल में 2 मार्च से शुरू होगी प्री-पेड टैक्सी सर्विस, ऑपरेटर्स ने परिवहन मंत्री से की शिकायत
मिन्हाज ने बताया कि टैक्सी वाला उसे जैसलमेर से बंगाल पहुंचाने का किराया 60 हजार मांग रहा है.

Prepaid Taxi Service in Himachal: टैक्सी ऑपरेटर यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष राजिंद्र ने कहा कि सरकार ने 22 स्थानों पर बूथ स्थापित करने की बात कही है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
शिमला. नए मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) के तहत टैक्सियों में व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम (Vehicle Tracking System) लगाना जरूरी किया गया है. लेकिन जिन कंपनियों को सिस्टम लगाने के लिए अधिकृत किया गया है, वो महंगे दामों पर इन्हें बेच रही है. इस पर सरकार ने कड़ा संज्ञान लिया है. इसकी शिकायत टैक्सी आपरेटरों ने परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Transport Minister Govind Singh Thakur) से की है. परिवहन मंत्री ने विभाग को इसके जांच के आदेश दे दिए हैं.

मंत्री से की मीटिंग
परिवहन मंत्री ने राज्य सचिवालय में प्रदेश और शिमला की टैक्सी ऑपरेटर यूनियन के साथ बैठक की, जिसमें टैक्सी ऑपरेटरों ने महंगे डिवाइस बेचे जाने की शिकायत की है. कहा गया है कि जो व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम बाजार में 6 से 8 हजार में पड़ रहा है, उसे कंपनियां 15 से 18 हजार में बेच रही हैं. मामला ध्यान में आने के बाद परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने निर्देश दिए हैं कि लगाए गए व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम का मैन्युफैक्चरिंग रेट और डीलर्स ने किस रेट पर बेचा, उसकी तुलना करने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. अगर ज्यादा रेट मिले होंगे तो इम्पैनल्ड कंपनियों को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा.

टैक्सी आपरेटरों ने की थी शिकायत



टैक्सी ऑपरेटर यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष मकरध्वज शर्मा ने कहा कि पुरानी गाड़ियों में ट्रैकिंग डिवाइस नहीं लगाने की मांग को परिवहन मंत्री ने माना है. लेकिन जीरो प्वाइंट टैक्सियों का परमिट 8 से बढ़ाकर 10 वर्ष और जीरा टू टैक्सियों की परमिट 10 से बढ़ाकर 15 वर्ष किया जाए, यह भी मांग रखी गई थी.



शिमला में शुरू होगी प्री पेड टैक्सी सर्विस
शिमला में 2 मार्च से पहली प्री-पेड टैक्सी सर्विस शुरू होने जा रही है. टैक्सी ऑपरेटर्स के साथ बैठक में इस पर फैसला किया गया. शिमला जिला के टैक्सी आपरेटर भी यह मांग लंबे समय से कर रहे थे. परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकार टैक्सियों के रेट तय करेगी. जिला शिमला में प्री-पेड बूथ स्थापित किए जाएंगे. भविष्य में ऐप के जरिए भी ऑनलाइन बुकिंग की व्यवस्था की जाएगी.

22 बूथ लगाए जाएंगे
टैक्सी ऑपरेटर यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष राजिंद्र ने कहा कि सरकार ने 22 स्थानों पर बूथ स्थापित करने की बात कही है. टैक्सी चालकों पर अक्सर यह आरोप लगाए जाते रहे हैं कि वह यात्रियों के साथ लूट खसूट करते हैं. ऐसे में प्री पेड बूथ से टैक्सी चालकों को भी राहत मिलेगी. गौरतलब है कि वाहनों में व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम लगाने की सोच निर्भया कांड के बाद उपजी है. मोटर व्हीकल एक्ट में इसके लिए नियम बने हैं.

ये भी पढ़ें: हिमाचल सरकार बोली- टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए घटाए शराब के दाम

PubG खेलते-खेलते हिमाचल से महाराष्ट्र पहुंचा नाबालिग, पुलिस ने ऐसे की तलाश

हिमाचल में उग्र हुई ABVP, ऊना डिग्री कालेज में जड़ा ताला, कक्षाओं का बहिष्कार
First published: February 20, 2020, 2:15 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading