Home /News /himachal-pradesh /

private bus strike in shimla city daily commuter faces difficulty hpvk

'बे-बस' शिमलाः निजी बसों की हड़ताल, स्कूल-कॉलेज के स्टूडेंट और सरकारी कर्मचारी हुए परेशान

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में मंगलवार को निजी बस संचालकों ने हड़ताल कर दी.

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में मंगलवार को निजी बस संचालकों ने हड़ताल कर दी.

Private Bus strike in Shimla: शहर में लोकल रूटों पर करीब 120 निजी बसें हड़ताल पर रही. निजी बस चालक-परिचालक यूनियन के अध्यक्ष रूपलाल ठाकुर और महासचिव अखिल गुप्ता ने बताया कि एक साल से यूनियन प्रदेश सरकार के समक्ष अपनी मांगें उठा रही हैं, लेकिन सरकार गंभीर नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में मंगलवार को निजी बस संचालकों ने हड़ताल कर दी. एक दिन की हड़ताल के ऐलान के बाद मंगलवार को शहर में निजी बसें नहीं चली और स्कूल, कॉलेज और दफ्तर जाने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. यहां तक कि लोगों को पैदल अपने गंतव्य की ओर जाना पड़ा. दरअसल, प्रदेश सरकार और परिवहन विभाग की ओर से मांगें न मानने पर निजी बस चालक-परिचालक यूनियन ने यह हड़ताल की. शिमला में एचआरटीसी बसों की संख्या सीमित है और काफी संख्या में निजी बसें चलती हैं. ऐसे में भारी भीड़ को परेशानी हुई.

जानकारी के अनुसार, शहर में लोकल रूटों पर करीब 120 निजी बसें हड़ताल पर रही. निजी बस चालक-परिचालक यूनियन के अध्यक्ष रूपलाल ठाकुर और महासचिव अखिल गुप्ता ने बताया कि एक साल से यूनियन प्रदेश सरकार के समक्ष अपनी मांगें उठा रही हैं, लेकिन सरकार गंभीर नहीं है. 5 अगस्त को यूनियन ने डीसी शिमला को मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा और हड़ताल का नोटिस दिया था. सरकार और प्रशासन की बेरुखी से आहत यूनियन ने 16 अगस्त को एक दिवसीय हड़ताल का निर्णय लिया है. निजी बस चालक-परिचालकों ने अपनी मांगों को लेकर क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी शिमला के कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया.

यह हैं यूनियन की मांगें
बता दें कि निजी बस संचालक मांग कर रहे हैं कि एचआरटीसी चालक-परिचालक भर्ती में निजी बसों के अनुभवी स्टाफ को 50 फीसदी कोटा दिया जाए. साथ ही परिवहन विभाग की ओर से उन्हें आई कार्ड दिए जाएं. वहीं, मेडिकल सुविधा, बस स्टैंड में रेस्ट रूम और निजी बसों को बस स्टैंड में काउंटर टाइम टेबल मिलना चाहिए.

Tags: Himachal, Himachal pradesh, Shimla News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर