हिमाचल में बारिश ने तोड़ा 8 साल का रिकॉर्ड, पांच जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद

News18 Himachal Pradesh
Updated: August 19, 2019, 10:00 AM IST
हिमाचल में बारिश ने तोड़ा 8 साल का रिकॉर्ड, पांच जिलों में स्कूल-कॉलेज बंद
ब्यास में पानी बढ़ने से मंडी शहर के साथ लगते मंदिर डूब गए हैं.

हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश से 48 घंटे में 21 लोगों की मौत हो गई है. प्रारंभिक आकलन के अनुसार, 18 नेशनल हाईवे के अलावा 887 अन्‍य सड़कें बंद हैं.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश में बारिश (Rain) ने पिछले 8 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. मौसम विभाग के अनुसार, साल 2011 के बाद 18 अगस्त (August) 2019 को पिछले 48 घंटों में रिकॉर्ड तोड़ बारिश दर्ज की गई है. 28 घंटे में पूरे प्रदेश में 102 एमएम बारिश हुई है. वर्ष 2011 में अगस्त महीने में 72 एमएम बारिश हुई थी. वहीं, साल 2017 में अगस्त माह में 74 एमएम बारिश (Rainfall) अगस्त महीने में 24 घंटों में दर्ज की गई थी.

इतना पानी बरसा
पिछले 48 घंटों में बिलासपुर के नैना देवी में 360 एमएम बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा बिलासपुर के ही झंडूता में 268.8 एमएम, ऊना के बरठीं में 239.8 एमएम, शिमला के रोहड़ू में 230 एमएम, नाहन में 225.4 एमएम, काहू में 181.4, हमीरपुर के बड़सर के मेहरा में 168.8 एमएम, शिमला में 153.1 एमएम, सिरमौर के पांवटा में 147, मंडी के गोहर में 145, हमीरपुर के सुजानपुर-टिहरा में 144 एमएम, हमीरपुर में 134.7 एमएम, मंडी के सरकाघाट में 118 एमएम, बिलासपुर में 252.5 एमएम, सिरमौर में 159.1 एमएम और सोलन में 114.2 एमएम तक बारिश दर्ज की गई है. दो दिन में में हिमाचल प्रदेश में औसत 102 एमएम बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, सोमवार से बारिश में कमी आनी की संभावना है, जिससे हालात थोड़े सामान्य होंगे.

चार जिलों में अलर्ट, पांच जिलों के स्कूलों में छुट्टी

हिमाचल प्रदेश में सोमवार सुबह मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है और चार जिलों में मूसलाधार बारिश के चेतावनी जारी की है. मौसम विभाग के अनुसार, ऊना, कांगड़ा, बिलासपुर और सिरमौर में तेज बारिश होगी. हालांकि, सोमवार से ही मौसम के सामान्य होने के आसार भी जताए गए हैं. चार जिलों में सिरमौर, कुल्लू, बिलासपुर, सोलन और शिमला में स्कूल कॉलेजों में छुट्टी कर दी गई है.

अब तक 21 मौतें
हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बरसात से 48 घंटे में 21 लोगों की मौत हो गई है. 18 नेश्नल हाईवे समेत 887 सड़कें बंद हैं. मरने वालों में 14 पुरुष, 1 महिला और 3 बच्चे शामिल हैं. ये मौतें लोगों के बाढ़ में बहने और भूस्खलन के कारण हुई हैं. बारिश की वजह से 490 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है और 224 पेयजल परियोजनाएं प्रभावित हुई हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें: हिमाचल, पंजाब और उत्तराखंड में बाढ़ से 28 की मौत

हिमाचल की जानलेवा बारिश में 21 की मौत, 887 सड़कें बंद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 9:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...