अपना शहर चुनें

States

हिमाचल उपचुनाव: BJP के लिए राहत, बागी सिक्टा ने वापस लिया नामांकन

हिमाचल में दो सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)
हिमाचल में दो सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

‌By-Election in Himachal: भाजपा के दोनों बागियों से सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने बुधवार शाम को मुलाकात की थी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल (Himachal Pradesh) की दो विधानसभा सीटों के लिए दाखिल नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन भाजपा (Bjp) के लिए राहत भरी खबर सामने आई है. पच्छाद (Pacchad) से बागी हुए और आजाद नामांकन भरने वाले भाजपा के आशीष सिक्टा ने अपना नामांकन (Nomination) वापस ले लिया है.

इससे पहले, दोनों बागियों आशीष सिक्टा और दयाल प्यारी से सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने बुधवार शाम को मुलाकात की और इसके बाद सिक्टा ने नामांकन वापस लेने का फैसला किया था. आशीष सिक्टा की गुरुवार को सराहां में होने वाली रैली भी रद्द कर दी गई है. गुरुवार दोपहर को सिक्टा ने अपना नामांकन वापस ले लिया.

ये नेता पहुंचे थे 



सिक्टा के नामांकन वापस लेने के दौरान शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री राजीव सैजल और हिमाचल भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती मौजूद रहे. इस दौरान सत्ती ने कहा कि पार्टी में सिक्टा का पूरा-मान सम्मान होगा.
ये है मामला
धर्मशाला सीट से भाजपा (BJP) ने जहां 32 साल के युवा विशाल नैहरिया को टिकट दिया. वहीं, पच्छाद से भाजपा ने रीना कश्यप को उतारा है. टिकट कटने के बाद दयाल प्यारी और आशीष सिक्टा ने बगावत कर दी थी और आजाद नामांकन भरा था. दोनों यहां से टिकट की रेस में थे और  केंद्र को भी इनके नाम भेजे गए थे. लेकिन इनका टिकट कट गया था. इसके बाद इनके बागी होने पर भाजपा की मुश्किलें बढ़ गई और यहां से मुकाबल रोचक हो गया था, क्योंकि भाजपा के बागियों आशीष और दयाल प्यारी की इस इलाके में अच्छी खासी पक़ड़ है. इसके अलावा, इस सीट पर भाजपा का मुकाबला सात बार कांग्रेस विधायक गंगूराम मुसाफिर से है.

13 उम्मीदवार मैदान में
हिमाचल की दोनों विधानसभा सीटों के लिए फिलहाल, 13 प्रत्याशी मैदान में हैं. दोनों बागियों के नामांकन वापस लेने के बाद अब 11 उम्मीदवार चुनावी दंगल में रह जाएंगे. हालांकि, गुरुवार को नामांकन वापस लेने का आखिरी दिन है. ऐसे में देखना होगा कि कितनी और प्रत्याशी नामांकन वापस लेंगे.

ये भी पढ़ें: यात्रा भत्ता: कांग्रेस MLA आशा कुमारी का क्लेम सबसे अधिक, सिंघा की भी खुली पोल

गांधी, पटेल और अम्बेडकर को भूली कांग्रेस एक परिवार तक सिमटी: अनुराग ठाकुर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज