Home /News /himachal-pradesh /

शिमला: जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की संदिग्ध मौत में बड़ा खुलासा, जानें क्या है पूरा मामला?

शिमला: जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की संदिग्ध मौत में बड़ा खुलासा, जानें क्या है पूरा मामला?

पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फोरेंसिक रिपोर्ट, सीडीआर समेत अन्य तमाम रिपोर्ट के नतीजे आने के बाद ही पुलिस किसी निष्कर्ष पर पहुंचेगी. (सांकेतिक फोटो)

पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फोरेंसिक रिपोर्ट, सीडीआर समेत अन्य तमाम रिपोर्ट के नतीजे आने के बाद ही पुलिस किसी निष्कर्ष पर पहुंचेगी. (सांकेतिक फोटो)

Shimla Suicide Case: शिमला पुलिस के मुताबिक, जिला परिषद सदस्य कविता कंटू के शरीर पर चोट का कोई निशान नहीं मिला, लेकिन गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी, दांतों से कटी थी जीभ, मुंह लार निकली थी. मृतका के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं है और न ही किसी तरह की मारपीट का निशान है. शरीर पर कोई ऐसे निशान भी नहीं हैं, जिससे ये पता चल सके कि मौत से पहले स्ट्रगल किया हो. प्रथम दृष्टया ऐसी परिस्थति आत्महत्या के बाद की होती है. पुलिस की ओर से फिलहाल इस मामले पर कुछ नहीं कहा जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू (Kavita Kantu) की संदिग्ध मौत के मामले पर पुलिस (Shimla Police) जांच जारी है. इस बीच पुलिस जांच (Police Investigation) में खुलासा हुआ है कि प्रारंभिक जांच में ये आत्महत्या का ही मामला (Suicide case) नजर आ रहा है. हालांकि पुलिस हर बिंदु और हर ऐंगल से जांच में जुटी हुई है. वीरवार को इस मामले की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने आने की संभावना है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर जांच की दिशा बदलेगी.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, मृतका के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं है और न ही किसी तरह की मारपीट का निशान है. शरीर पर कोई ऐसे निशान भी नहीं हैं, जिससे ये पता चल सके कि मौत से पहले स्ट्रगल किया हो. हालांकि गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी, मुंह से लार निकली हुई थी और जीभ दांतों से कटी हुई नजर आई. प्रथम दृष्टया ऐसी परिस्थति आत्महत्या के बाद की होती है. पुलिस की ओर से फिलहाल इस मामले पर कुछ नहीं कहा जा रहा है.

कविता मानसिक दबाव में थीं
पुलिस जांच में ये भी सामने आया है कि कविता किसी मानसिक दबाव में भी थी. जिला परिषद सदस्य बनने के बाद लोगों के काम दबाव बना हुआ था, दूसरी तरफ पढ़ाई को लेकर भी थोड़ी परेशान थी. कविता एक होनहार छात्रा थी, यूजीटी नेट की परीक्षा पास कर चुकी है, इतिहास विभाग में एमफिल कर चुकी थी. इसके अलावा कॉलेज कैडर की परीक्षा की तैयारी के साथ साथ पीएचडी के एंट्रेंस टेस्ट की भी तैयारी कर रही थी. एचपीयू की लाइब्रेरी में भी काफी पढ़ाई करती थी. जानकारी के अनुसार हाल ही चंडीगढ़ से परीक्षा देकर लौटी थी. पंजाब यूनिवर्सिटी में पीएचडी की प्रवेश परीक्षा दी थी.

कविता के कमरे की दो चाबियां थीं
निजी जिंदगी में किसी तरह की पेरशानी की अब तक कोई बात सामने नहीं आई है. जन प्रतिनिधि होने के नाते उन्हें अपने वार्ड के कई क्षेत्रों में जाना पड़ता था, इसके लिए कुछ दिन पहले ही गाड़ी भी खरीदी थी. बताया जा रहा है कि उसकी शादी भी तय हो गई थी, उसको लेकर भी कोई परेशानी नहीं थी.

पुलिस जांच में ये भी पता चला है कि जिस किराए के कमरे में वो रहती थी, उस कमरे की दो चाबियां थी. एक चाबी उसके पास रहती थी और दूसरी उसकी सहेली के पास. ये भी पता चला है कि आत्महत्या करने से पहले कविता ने शाम को अंधेरा होने का इंतजार किया. अंधेरा होने के बाद कमरे में ताला लगाकर निकल गई. एक चाबी कविता के लोअर से बरामद की गई है.

कविता के कमरे में मिली सुसाइड चिट
कविता के कमरे से जो चिट बरामद हुआ है, जिसे सुसाइट चिट बताया जा रहा है, पुलिस ने उसे फिलहाल सुसाइड नोट नहीं माना है. उस चिट को लैब में जांच के लिए भेजा गया है, जिससे पता चलेगा कि ये नोट उसी ने लिखा है या नहीं. उस चिट में कविता ने अपने हस्ताक्षर भी नहीं किए हैं. विसरा को भी फोरेंसिक लैब में भेजा गया है. पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और फोरेंसिक रिपोर्ट, सीडीआर समेत अन्य तमाम रिपोर्ट के नतीजे आने के बाद ही पुलिस किसी निष्कर्ष पर पहुंचेगी.

मझाली गांव की रहने वाली थीं
बता दें कि मंगलवार को बालूगंज थाना क्षेत्र के तहत समरहिल के साथ लगते सांगटी के जंगल में रामपुर के झाकड़ी वार्ड से जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया था. कविता का शव जंगल में एक पेड़ से लटका हुआ मिला था. मृतका जिला शिमला के रामपुर क्षेत्र की कुहल पंचायत के मझाली गांव की रहने वाली थीं.

Tags: Himachal news, Shimla News, Shimla police

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर