HIV रिपोर्ट मामला: निजी अस्पताल बोला-सदमे से नहीं हुई महिला की मौत

शिमला (Shimla) के रोहडू (Rohru) के डोडरा क्वार की 22 साल की अंकिता को 21 अगस्त को रोहड़ू के संजीवनी अस्पताल (Sanjeevani Hospital Rohru) में भर्ती करवाया गया था. अंकित गर्भवती थी और उसे पेट दर्द की शिकायत थी.

Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 29, 2019, 6:16 PM IST
HIV रिपोर्ट मामला: निजी अस्पताल बोला-सदमे से नहीं हुई महिला की मौत
रोहडू़ का संजीवनी अस्पताल.
Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 29, 2019, 6:16 PM IST
हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) में एचआईवी (HIV) की ‘गलत रिपोर्ट’ के बाद सदमे से महिला की मौत मामले में निजी अस्पताल में सारे आरोप नकारे हैं. हालांकि, अस्पताल ने माना है कि उन्होंने महिला को एचआईवी (HIV) लक्षण होने की पॉजिटिव रिपोर्ट दी थी. लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने इस बात से इंकार किया कि रिपोर्ट की वजह से महिला की मौत हुई है.  अस्पताल ने कहा कि पीड़िता का उनके अस्पताल में ऑपरेशन संभव नहीं था, इसलिए बडे़ अस्पताल रेफर किया गया.

यह बोला निजी अस्पताल
न्यूज18 की टीम ने मामले की ग्राउंट जीरो पर जाकर पड़ताल की और संजीवनी हॉस्पिटल प्रशासन का पक्ष जाना. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. मुद्दे का राजनीतिकरण किया जा रहा है. महिला की मौत के कारण कुछ और ही हैं. 22 साल की महिला को गंभीर हालत में यहां लाया गया था. इसके बाद महिला के सारे टेस्ट किए गए. अस्पताल ने माना कि एचआईवी पॉजिटिव होने की बात टेस्ट रिपोर्ट लिखी गई थी, लेकिन परिवार के किसी भी सदस्य को इसकी जानकारी नहीं दी गई थी. अस्पताल प्रबंधन ने इस संबध में एक प्रैस रिलीज भी जारी की है.

रोहडू़ का संजीवनी अस्पताल की ओर से जारी प्रैस रिलीज.
रोहडू़ का संजीवनी अस्पताल की ओर से जारी प्रैस रिलीज.


यह है मामला
शिमला के रोहडू के डोडरा क्वार की 22 साल की अंकिता को 21 अगस्त को रोहड़ू के संजीवनी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. अंकित गर्भवती थी और उसे पेट दर्द की शिकायत थी. इस दौरान उसके टेस्ट किए गए तो महिला के शरीर में खून की कमी पाई गई. इसके बाद महिला की हालत बिगड़ी तो उसे वहां से शिमला के कमला नेहरू अस्पताल भेजा गया. यहां से महिला आईजीएमसी (IGMC) शिमला लाई गई. इस दौरान महिला की हालत बिगड़ गई और कोमा में जाने के बाद उसकी मौत हो गई.

विधानसभा में भी उठा था मुद्दा
Loading...

बुधवार को हिमाचल विधानसभा में भी यह मुद्दा गूंजा था. म़ॉनसून सत्र के दौरान सदन में रोहड़ू से कांग्रेस (Congress) विधायक मोहन लाल ब्राक्टा ने प्वाइंट ऑफ ऑर्डर के तहत मामला उठाया था. इस पर सीएम ने कहा था कि सरकार ने स्वास्थ्य निदेशक को जांच के आदेश दिए हैं. सीएम जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने कहा था कि 15 दिन में मामले की जांच की जाएगी. दोषियों के खिलाफ शख्त कार्रवाई की जाएगी. स्वास्थ्य विभाग के निदेशक जांच करने के बाद अपनी रिपोर्ट सरकार को देंगे. उन्होंने घटना पर दुख भी जताया था.

ये भी पढ़ें: रिश्वत कांड: ज्वाली DSP बोले, मैं बेकसूर, विधायक ने फंसाया

हिमाचल: ट्रिब्यूनल बंद करने का बिल पारित, कांग्रेस का वॉकआउट

दिल्ली से मनाली जा रही HRTC वॉल्वो बस पर हरियाणा में फायरिंग

XEN को फोन पर धमकाते कांग्रेसी नेता का VIDEO हुआ वायरल

VIDEO: ननद ने भाभी के प्रेमी को सरेआम पीटा, कपड़े फाड़े

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 29, 2019, 5:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...