250 करोड़ का बहुचर्चित छात्रवृति घोटाला: CJM ने आरोपियों को 4 दिनों की CBI रिमांड पर भेजा
Shimla News in Hindi

250 करोड़ का बहुचर्चित छात्रवृति घोटाला: CJM ने आरोपियों को 4 दिनों की CBI रिमांड पर भेजा
आरोपियों के 4 दिनों के CBI रिमांड के बाद 8 जनवरी को फिर किया जाएगा पेश.

सीजेएम (CJM) ने सीबीआई (CBI) और आरोपी पक्ष के वकीलों की दलीलों को सुनने के बाद तीनों आरोपियों को 4 दिन की सीबीआई रिमांड (CBI remand) पर भेजने का फैसला सुनाया. 8 जनवरी तक तीनों आरोपी सीबीआई रिमांड पर रहेंगे और रिमांड खत्म होने के बाद 8 जनवरी को फिर कोर्ट में पेश किया जाएगा.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल का अपने आप में पहला और बहुचर्चित 250 करोड़ के छात्रवृति घोटाले (Scholarship scam) में गिरफ्तार तीनों आरोपियों को सीबीआई ने आज जिला कोर्ट (District Court) के चीफ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट परविंदर सिंह अरोड़ा की अदालत में पेश किया. सीजेएम ने
सीबीआई और आरोपी पक्ष के वकीलों की दलीलों को सुनने के बाद तीनों आरोपियों को 4 दिन की सीबीआई रिमांड (CBI remand) पर भेजने का फैसला सुनाया. 8 जनवरी तक तीनों आरोपी सीबीआई रिमांड पर रहेंगे और रिमांड खत्म होने के बाद 8 जनवरी को फिर कोर्ट में पेश किया जाएगा.

आरोपियों में शिक्षा विभाग का तत्कालीन अधीक्षक अरविंद राज्टा, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की नवांशहर शाखा का हेड कैशियर सुरेंद्र पाल सिंह और ऊना केसी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के वाइस चेयरमैन हितेश गांधी शामिल हैं.

CBI ने 7 दिनों की रिमांड मांगी थी
चीफ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट ने सीबीआई और आरोपी पक्ष के वकीलों को सुनने के बाद तीनों आरोपियों को सीबीआई रिमांड पर भेजा. सीबीआई के वकील ने आरोपियों को 7 दिन की रिमांड पर भेजने की कोर्ट से गुहार लगाई जबकि आरोपी पक्ष के वकील ने ज्यादा समय तक सीबीआई रिमांड पर भेजने का विरोध


किया और कहा कि आरोपियों को ज्यादा समय तक रिमांड पर भेजने की जरूरत नहीं है. ऐसे में कोर्ट ने 4 दिनों के सीबीआई रिमांड पर भेजने का फैसला सुनाया.

ये भी पढ़ें - ननकाना साहिब गुरुद्वारा में पत्थरबाजी : विरोध में भाजपा का डीसी ऑफिस के बाहर पाक के खिलाफ प्रदर्शन

ये भी पढ़ें - साल का पहला व सरकार का 19वां जनमंच कार्यक्रम,5 जनवरी को प्रदेश भर में आयोजन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading