अपना शहर चुनें

States

हिमाचल में कल से खुलेंगे सभी स्कूल, कोविड नियमों का पालन करना बड़ी चुनौती!

हिमाचल में स्कूल खुलेंगे.
हिमाचल में स्कूल खुलेंगे.

Schools in Himachal: प्रदेश के सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में दो गज की दूरी बनाना मुश्किल होगा. राज्य के कई सरकारी स्कूलों में एक ही कक्षा में 100 से 200 छात्र भी हैं. ऐसे में इन छात्रों को एक क्लासरूम के बीच सोशल डिस्टेंसिंग कैसे रखनी है, यह बड़ा सवाल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2021, 4:14 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में बुधवार से सभी सरकारी स्कूल (Govt Schools) खुल जाएंगे. शिक्षा विभाग के नए आदेशों के अनुसार प्रार्थना सभाओं से लेकर कैंपस में किसी भी तरह की कोई गतिविधि नहीं होगी. स्कूल प्रिंसीपल को 27 जनवरी को कक्षाओं का प्लान तैयार कर निदेशालय भेजना होगा. हालांकि, 27 जनवरी से बच्चे स्कूल नहीं आएंगे. केवल शिक्षकों को ही स्कूल आना होगा.

एक फरवरी से बच्चे स्कूल आएंगे. अभी तक हिमाचल के 15 हजार ग्रीष्मकालीन स्कूल के प्रिंसीपल ने  शिक्षा विभाग को रिपोर्ट नहीं दी है. शिक्षा विभाग ने सभी स्कूल प्रिंसीपल को अधिकृत किया है कि वे सोशल डिस्टेंसिंग में छात्रों को अपने तरीके से स्कूलों में बुला सकते हैं.

जिन स्कूल में छात्रों की संख्या ज्यादा है वे वैकल्पिक दिवस पर बच्चों को बुला सकते हैं. बोर्ड छात्रों की कक्षाएं रूटीन में बुलाना अनिवार्य है. नौ माह बाद अब पहली फरवरी से प्रदेश के स्कूलों में नियमित कक्षाएं शुरू होंगी.




इन बच्चों की कक्षाएं लगेंगी
5वीं और आठवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों की स्कूलों में आकर कक्षाएं लगाई जाएंगी. अहम यह है कि पहली फरवरी से प्रदेश के आईटीआई, इंजीनियरिंग कालेज, पोलटेक्निक कालेजों के अलावा दूसरे शिक्षण संस्थान भी खुल जाएंगे. इसके साथ ही 15 फरवरी से विंटर क्लोजिंग स्कूलों में भी शिक्षक व छात्रों को आना होगा. विंटर क्लोजिंग स्कूलों में 12 फरवरी तक अवकाश रहेगा, वहीं 13 व 14 फरवरी को सरकारी अवकाश है. आठ फरवरी के बाद कॉलेज भी खुल जाएंगे. फिलहाल प्राइवेट व सरकारी स्कूलों को कोविड – 19 की गाइडलाइन का पालन करने के लिए पहले से ही व्यवस्था करनी होगी। प्रदेश में अभी पहली, दूसरी, तीसरी, चौथी, छठी, सातवीं छात्रों की फिजिकली कक्षाएं नहीं लगेंगी. इन कक्षाओं के छात्रों की हर घर पाठशाला के माध्यम से ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी.

स्कूलों में दो गज की दूरी चुनौती

प्रदेश के सरकारी व प्राइवेट स्कूलों में दो गज की दूरी बनाना मुश्किल होगा. राज्य के कई सरकारी स्कूलों में एक ही कक्षा में 100 से 200 छात्र भी हैं. ऐसे में इन छात्रों को एक क्लासरूम के बीच सोशल डिस्टेंसिंग कैसे रखनी है, यह बड़ा सवाल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज