कुल्लू थप्पड़ कांड: गौरव सिंह हटाए गए, गुरदेव शर्मा बने नए SP, आदेश जारी

गुरदेव शर्मा बने कुल्लू के नए एसपी.

Himachal News:  कुल्लू (Kullu) में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान पुलिस अफसरों की भिड़ंत के बाद अब कुल्लू में नए एसपी (Kullu New SP) की तैनाती कर दी गई है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के कुल्लू (Kullu) जिले में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान पुलिस अफसरों की भिड़ंत के बाद अब जयराम सरकार एक्शन मोड पर आ गई है. कुल्लू में अब नए एसपी की तैनाती कर दी गई है. 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी गुरदेव शर्मा कुल्लू के एसपी नियुक्त हुए हैं. इसे लेकर गृह विभाग आदेश जारी किया है. गुरदेव शर्मा (Gurdev Sharma) मंडी जिले के एसपी रहे चुके हैं. कुल्लू में पुलिस अधिकारियों में झड़प के बाद एसपी गौरव सिंह (Gaurav Singh) हटाए गए थे. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान पुलिस अफसरों का एक वीडियो (VIDEO) भी सामने आया है. दरअसल, जब भुंतर हवाई अड्डे के बाहर से गडकरी का काफिला गुजर रहा था तो वहां पर कीरतपुर मनाली फोरलेन के प्रभावित एकजुट हुए. वह केंद्रीय मंत्री से बात करना चाहते थे. गडकरी ने भी गाड़ी रोकर प्रभावितों से बात की और आश्वासन दिया कि वह मामले में उचित समाधान निकालेंगे. बाद में लोगों ने गडकरी के लिए नारेबाजी भी कि और कहा हि हमारा पीएम कैसा हो, गडकरी जैसा हो.




कुल्लू में जैसे ही सीएम जयराम ठाकुर का हेलिकॉप्टर लैंड हुआ था तो एएसपी ब्रजेश सूद ने मैदान में धूल मिट्टी को लेकर एसपी से बहस की थी. इसका वीडियो भी सामने आया है, जिसमें एएसपी, एसपी के साथ कुछ बोल रहे हैं. बताया जा रहा है कि ऐसे में पहले से ही एसपी के साथ इस तरह का बर्ताव करने की वजह से गौरव सिंह आपा खो बैठे.








विपक्ष ने साधा निशाना




हिमाचल प्रदेश के कुल्लू  जिले में पुलिस अधिकारियों के बीच हुई मारपीट के मामले पर सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई है. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सरकार पर ताबड़तोड़ हमले किए हैं. साथ ही शिमला ग्रामीण से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने भी सरकार को आड़े हाथों लिया है. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि इस घटना ने प्रदेश को पूरे देश के सामने शर्मसार किया है और कलंकित किया है. उन्होंने कहा कि अब जाहिर हो गया कि किस तरह सरकार व्यवस्था पर नियंत्रण खो चुकी है. केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्री के सामने एक ऐसी घटना हुई जिसमें पुलिस ने तमाम मर्यादाएं तार-तार कर दीं.




अग्निहोत्री ने कहा कि ऐसा तब होता है जब सरकार कमजोर हो वरना किन इस तरह की जुर्रत कर सकता था और ऐसी घटना जय राम सरकार के राम राज में ही हो सकती हैं. उन्होंने कहा कि सरकार की नाक कटी है और लीपापोती के लिए जांच की जा रही है. साथ ही आरोप लगाया कि इस पूरी घटना की पृष्ठभूमि में सीएम हैं. मुख्यमंत्री नहीं चाहते थे कि फोरलेन प्रभावित केंद्रीय मंत्री से मिले और संभवत: उन्होंने ये निर्देश भी दे रखे थे.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.