Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    फेस्टिवल सीजन: शिमला में मिठाई बेचने वालों पर खाद्य विभाग की नजर, टीमें गठित

    हलवाई की दुकान के  नए नियम 1 अक्टूबर से पूरे देश में हुए लागू.
    हलवाई की दुकान के नए नियम 1 अक्टूबर से पूरे देश में हुए लागू.

    यदि कोई विक्रेता मिलावटी सामग्री बेचता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. लोगों से भी जागरुक रहने की अपील की गई है.

    • Share this:
    शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में फेस्टिवल सीजन के दौरान मिलावटी मिठाईयां बेचने वालों पर खाद्य सुरक्षा विभाग ने नकेल कसना शुरु कर दिया है. विभाग अब मौके पर ही खाने पीने की चीज़ों की जांच करेगी. इसके लिए विभाग ने जहां फ़ूड इंस्पेक्टर के नेतृत्व में टीमें गठित की है. वहीं, अब मोबाइल बैन के माध्यम से मौके पर ही मिठाइयों से लेकर खाने पीने की अन्य चीजों की जांच करेगी.

    क्या बोले अधिकारी

    सह आयुक्त खाद्य सुरक्षा अधिकारी डॉ विजया ने बताया कि फेस्टिवल सीजन में कुछ शातिर लोग मिलावटी मिठाइयों की विक्री करते हैं और जगह-जगह जाकर इस कार्य को अंजाम देते हैं इसको रोकने के लिए विभाग कड़ी निगरानी रख रहा है.सीजन के दौरान ख़ोया, दूध, पनीर और अन्य तरह की मिठाईयां दूसरे राज्यों से आती हैं, जिसके चलते मिलावटी मिठाईयां की बिक्री भी होती है. इन मिलावटी सामग्री को रोकने के लिए विभाग ने कमर कस ली है और जगह जगह पर छापे मारकर सैंपल भरे जा रहे हैं.



    मिलावटी सामग्री बेचने वाले पर कानूनी कार्रवाई
    उन्होंने कहा कि यदि कोई विक्रेता मिलावटी सामग्री बेचता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने लोगों से भी जागरुक रहने की अपील की है.और मिलावटी खाने पीने की चीज़ों की जानकारी मिलने पर संबंधित फूड इंस्पेक्टर को सूचित कर शिकायत दर्ज कर सकते हैं.उन्होंने विक्रेताओं से भी सीजन के दौरान मिलावटी सामान न बेचने की अपील की है.यदि कोई विक्रेता मिलावटी सामान बेचता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज