Home /News /himachal-pradesh /

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020: शिमला को मिला 65वां रैंक, ये है सूबे के दूसरे शहरों की रैंकिंग

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020: शिमला को मिला 65वां रैंक, ये है सूबे के दूसरे शहरों की रैंकिंग

हिमाचल का शिमला शहर.

हिमाचल का शिमला शहर.

Cleanness Suvery 2020: केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2020 की घोषणा की है, कार्यक्रम में 129 शहरों को पुरस्कार दिए गए हैं.

शिमला. केंद्र सरकार ने स्वच्छता सर्वेक्षण अभियान 2020 का परिणाम घोषित कर दिया है. स्वच्छ शहरों (Clean City) की सूची में एक बार फिर इंदौर शहर ने पहला स्थान हासिल किया है, जबकि शिमला शहर (Shimla) ने अपनी रैंकिंग में सुधार कर 65वां स्थान हासिल किया है. स्वच्छता सर्वेक्षण (Cleanness Survey 2020) में इस बार देशभर के 4242 शहरों ने भाग लिया था, जिसमें शिमला टॉप 100 शहरों में अपना स्थान बनाने में कामयाब हुए है. हालांकि, शिमला समेत प्रदेश के पांच शहरों सोलन, बद्दी, नाहन, मंडी (Mandi), सिरमौर ने भी भाग लिया था, लेकिन वे टॉप 100 शहरों में अपना स्थान नहीं बन पाए हैं.

बीते साल था 128वां रैंक

बता दें कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में शिमला शहर ने 128 वां स्थान हासिल किया था, लेकिन इस बार यह शिमला शहर ने अपनी रैंकिंग में सुधार कर 65 वां स्थान हासिल किया है. हालांकि, गारबेज फ्री सिटी से पहले ही बाहर हो चुका शिमला ने अपनी रैंकिंग में अच्छा सुधार किया है.

गारबेज फ्री सिटी में मिले कम अंक

नगर निगम संयुक्त आयुक्त अजीत भारद्वाज ने बताया कि सर्दियों के दौरान शिमला शहर का स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के लिए सर्वेक्षण किया गया था, लेकिन बर्फबारी के चलते फिर भी शहर को काफी स्वच्छ रखा गया था, जिसके चलते 65 वां स्थान हासिल हो पाए है. उन्होंने बताया कि निगम ने टॉप 20 शहरों में आने की उम्मीद जताई थी. लेकिन गारबेज फ्री सिटी के कुछ कम्पोनेंट में अच्छे अंक न मिल पाने के चलते अच्छी रैंकिंग नहीं मिल पाई है.

शिमला शहर.


टॉप-10 में आने के लिए शहरवासियों से मांगा सहयोग

उन्होंने बताया कि अगले साल होने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए निगम ने अभी से कमर कस ली है, जिसमें शहरवासियों से भी स्वच्छता बनाये रखने के लिए सहयोग मांगा जाएगा, ताकि शिमला टॉप 10 स्वच्छ शहरों में आ सके. बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के घोषित नतीजों में राजधानी शिमला को 65वां स्थान मिला है.

हिमाचल का मंडी शहर.


ये है हिमाचल के दूसरे  शहरों का हाल

पचास हजार की आबादी वाले शहरों में नाहन 147, सोलन 159, मंडी 172, बद्दी 185, पांवटा साहिब 187, नयना देवी 397, कांगड़ा 467, मनाली 477, ज्वालामुखी 490, तलाई 500 , नेरचौक 502, ऊना 532, पालमपुर 533, गगरेट 546, और हमीरपुर को 547वां स्थान मिला है. इंदौर को लगातार चौथे साल भारत का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है. सर्वेक्षण में इस बार दूसरा स्थान सूरत और तीसरा स्थान नवी मुंबई को मिला है. केंद्र सरकार के स्वच्छता सर्वेक्षण में वाराणसी को ‘गंगा किनारे बसा हुआ सबसे अच्छा शहर’ घोषित किया गया है. वहीं बिहार की राजधानी पटना सबसे निचले पायदान पर है.केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एक समारोह में स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार 2020 की घोषणा की. इस कार्यक्रम में देश के 129 शहरों को पुरस्कार दिए गए हैं.

Tags: Cleaning, Cleanliness Drive, Himachal pradesh, Shimla, Shimla Urban

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर