शिमला: हादसे को न्यौता दे रहा घोड़ाचौकी-दरगाह मार्ग, काम छोड़कर भागा ठेकेदार

पार्षद संजय परमार भी लोगों के साथ खड़े नजर आए. उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण के लिए टेंडर ऊपर से ही किए गए, जबकि हमें इसकी जानकारी तक नहीं दी गई. ऐसे में इस विषय को हाऊस में भी उठाया जाएगा.

News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 3:04 PM IST
शिमला: हादसे को न्यौता दे रहा घोड़ाचौकी-दरगाह मार्ग, काम छोड़कर भागा ठेकेदार
काम अधूरा छोड़ भाग गया ठेकेदार.
News18 Himachal Pradesh
Updated: June 5, 2019, 3:04 PM IST
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला का प्रवेश द्वार कहे जाने वाला घोड़ाचौकी-दरगाह मार्ग बड़े हादसे को न्यौता दे रहा है. ठेकेदार बीच में काम छोड़कर भाग गया है और नगर निगम शिमला मूकदर्शक बनकर बैठा है. घटिया निर्माण के चलते यहां कई बार हादसे भी हो चुके हैं. घोड़ाचौकी से दरगाह हजरत सलोत्री बाबा की ओर जाने वाला मार्ग काल का द्वार बनता जा रहा है.

ठेकेदार काम छोड़कर भागा
दरअसल, इस मार्ग का निर्माण तो शुरू हुआ लेकिन ठेकेदार काम को बीच में छोड़कर भाग गया है. अधूरा का घटिया निर्माण होने के चलते यहां आए दिन हादसे हो रहे हैं. जहां खुदाई हुई, वहां सीढ़ियां ढंग से नहीं बनाई गई और बीच में खाली जगह छोड़ दी गई हैं. इसी वजह से बुधवार सुबह यहां एक हादसा हुआ, जिसमें एक मजदूर बोझा लेकर जा रहा था और अचानक संतुलन बिगड़ने के कारण वह नाली में गिर गया.

हाईकोर्ट में डालेंगे याचिका

मजदूर ने आईजीएमसी जाकर अपना इलाज करवाया. वहीं घोड़ाचौकी-कच्चीघाटी वेलफेयर सोसायटी ने नगर निगम और ठेकेदार के खिलाफ पुलिस में भी शिकायत की है. साथ ही चेतावनी दी है कि अगर निर्माण कार्य को ठीक नहीं किया गया तो हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर की जाएगी.
स्थानीय निवासियों की मानें तो इस रास्ते से जान पर खेलकर जाना पड़ता है. स्कूल-आने जाने वाले बच्चों को भी भारी परेशानी उठानी पड़ती है. कॉलेज जाने वाली एक लकड़ी इसी रास्ते से जाते हुए गिर गई थी जिससे उसे अपने एग्जाम तक प्लास्टर में देने पड़े. वहीं, आज घायल हुआ मजदूर भी नगर निगम की कार्यप्रणाली को कोस रहा है.

हाउस में उठाऊंगा मुद्दा: पार्षद
Loading...

इस पूरे मामले पर इस क्षेत्र के पार्षद संजय परमार भी लोगों के साथ खड़े नजर आए. उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण के लिए टेंडर ऊपर से ही किए गए, जबकि हमें इसकी जानकारी तक नहीं दी गई. ऐसे में इस विषय को हाऊस में भी उठाया जाएगा. अपने घटिया निर्माण कार्य पर नगर निगम शिमला मुख्यमंत्री कार्यालय में स्थापित क्वालिटी मॉनिटरिंग टीम के राडार पर भी है. 13 जून से 15 जून तक यहां हुए निर्माण कार्यों की जांच होनी है. उम्मीद है इन तस्वीरों को देखने के बाद क्वालिटी मॉनिटर सैल इस निर्माण कार्य की भी जांच करता है या नहीं.

ये भी पढ़ें: धर्मशाला स्टेडियम में भिड़ेंगे भारत-द.अफ्रीका, ये है शेड्यूल

मंडी में ब्यास में मिला डेढ़ साल बच्ची का शव, नहीं हुई पहचान

कमांद में लगी आग, तीन भाइयों का 12 कमरों का मकान खाक

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने भेजा 10वीं मैथ्स का उल्टा प्रश्नपत्र

ब्रॉडबैंड से जुड़ेंगी हिमाचल की 3226 पंचायतें, मिली मंजूरी

मंडी में कांग्रेस की हार पर मंथन: फिर EVM पर फोड़ा ठीकरा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 5, 2019, 2:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...