हिमाचल प्रदेश में बर्ड फ्लू की दूसरी लहर, पौंग झील में फिर से मृत मिले विदेशी पक्षी

(कॉन्सेप्ट इमेज)

(कॉन्सेप्ट इमेज)

मुख्य वन्यजीव वार्डन अर्चना शर्मा ने बताया कि भोपाल के राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान (NIHSAD) ने मृत पक्षियों के नमूनों में H5N8 एवियन इन्फ्लुएंजा मिलने की पुष्टि की है, उन्होंने बताया कि मंगलवार को पौंग डैम लेक (Pong Dam Lake) में करीब 99 पक्षी मृत मिले हैं

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश में बर्ड फ्लू (Bird Flu) का कहर एक बार फिर देखने को मिल रहा है, यहां पिछले दो सप्ताह में पौंग डैम लेक (Pong Dam Lake) में लगभग 100 प्रवासी पक्षी मृत (Dead Birds) मिले हैं. वन्यजीव अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि पौंग डैम लेक वन्यजीव अभ्यारण्य में जनवरी में बर्ड फ्लू से करीब पांच हजार पक्षी एक महीने में मारे गए थे. फरवरी में इस पर काबू पाया गया था, लेकिन मार्च अंत से इसका कहर एक बार फिर देखने को मिला है, जब 25 मार्च को यहां दर्जनों पक्षियों के कंकाल पाए गए थे.

मुख्य वन्यजीव वार्डन अर्चना शर्मा ने बताया कि भोपाल के राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान (NIHSAD) ने मृत पक्षियों के नमूनों में H5N8 एवियन इन्फ्लुएंजा मिलने की पुष्टि की है, उन्होंने बताया कि मंगलवार को पौंग डैम लेक में करीब 99 पक्षी मृत मिले हैं.

इस बीच, अभयारण्य को एक बार फिर से विजिटर्स के लिए बंद कर दिया गया है. बर्ड फ्लू से निपटने के लिए मृत पक्षियों की निगरानी और उनके नमूनों की जांच जैसे कदम भी उठाए जा रहे हैं.

बता दें कि सोमवार को कुल्लू जिले के कुल्लू उपमंडल में भी दो मृत कौवों में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने से हड़कंप मच गया थे. इससे बाद कुल्लू की उपायुक्त डॉ. ऋचा वर्मा ने इसे लेकर टास्क फोर्स के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की थी जिसमें उन्होंने वन विभाग को जंगली पक्षियों की व्यापक स्तर पर निगरानी रखने, मृत पक्षियों का उचित तरीके से निपटारा करने और जिस स्थान पर मृत पक्षी पाए गए हैं उसे डिसइन्फेक्ट करने के आदेश दिए थे. इसके अलावा पशुपालन विभाग को एहतियात के तौर पर घरेलू मुर्गियों और चिकन की दुकानों की सघन निगरानी करने व इनके नमूने एकत्रित कर प्रयोगशाला भेजने के निर्देश दिए गए थे. (भाषा से इनपुट)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज