Home /News /himachal-pradesh /

शिमला की जिला परिषद सदस्य कविता कंटू ने किया था सुसाइड, पढ़ें पूरी पोस्टमार्टम रिपोर्ट

शिमला की जिला परिषद सदस्य कविता कंटू ने किया था सुसाइड, पढ़ें पूरी पोस्टमार्टम रिपोर्ट

शहर में समरहिल में 26 साल की जिला परिषद की सदस्य कविता कांटू की संदिग्ध हालात (Kavita kantu death Case) में मौत हो गई.

शहर में समरहिल में 26 साल की जिला परिषद की सदस्य कविता कांटू की संदिग्ध हालात (Kavita kantu death Case) में मौत हो गई.

Shimla Kavita Kantu Death Case: मंगलवार सुबह 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की लाश जंगल में पेड़ से लटकी हुई मिली थी. समरहिल के साथ लगते सांगटी के जंगल में कविता की लाश मिली थी. मृतका जिला शिमला के रामपुर क्षेत्र की कुहल पंचायत के मझाली गांव की रहने वाली थीं. वह एचपीयू से पीएचडी भी कर रही थी. हाल ही में कविता ने नई कार भी खरीदी थी.

अधिक पढ़ें ...

शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की संदिग्ध मौत के मामले पर पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट में आत्महत्या (Suicide) की पुष्टि हुई है. रिपोर्ट के अनुसार, शरीर पर किसी भी तरह की चोट के कोई निशान नहीं हैं. मौत की वजह दम घुटना बताया गया है, यानी जो फंदा (Hanging) बनाया था, उससे दम घुटा है. इस रिपोर्ट से उन आशंकाओं पर तो विराम लग गया है कि जिसमें कहा जा रहा था कि ये आत्महत्या नहीं हत्या है, लेकिन इस सब के बावजूद पुलिस की जांच जारी है. शिमला की एसपी मोनिका भुटूंगरू ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने की पुष्टि की.

एसपी ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में आत्महत्या की बात सामने आई है, दम घुटने से मौत हुई है. रिपोर्ट में सोमवार देर शाम को होने की बात कही गई है. जिंदा रहते हुए गले पर फंदा लगाया गया था. ऐसा रिपोर्ट में कहा गया है. जमीन पर जो घुटने लगे हुए हैं उसे ‘पार्शियल हैंगिग’ कहा जाता है. एसपी की कहना है कि मामले की जांच जारी है. पुलिस को अब एफएसएल और हैंडराइटिंग की रिपोर्ट का इतंजार है. उसके बाद ही पुख्ता तौर पर कुछ कहा जा सकता है. पुलिस हर पहलू पर जांच में जुटी हुई है.

शरीर पर चोट के निशान नहीं 

बता दें कि न्यूज़ 18 को बुधवार को जानकारी मिली थी कि मृतका के शरीर पर किसी तरह की चोट के निशान नहीं है और न ही किसी तरह की मारपीट का निशान है. शरीर पर कोई ऐसे निशान भी नहीं है जिससे ये पता चल सके कि मौत से पहले स्ट्रगल किया हो. गर्दन की हड्डी टूटी हुई थी, मुंह से लार निकल हुई थी और जीभ दांतो से कटी हुई नजर आई. प्रथम दृष्टया ये सभी तथ्य आत्महत्या की ओर इशारा कर रहे थे. पुलिस जांच में ये भी सामने आया है कि कविता किसी मानसिक दबाव में भी थी.

बता दें कि मंगलवार सुबह 26 वर्षीय जिला परिषद सदस्य कविता कंटू की लाश जंगल में पेड़ से लटकी हुई मिली थी. समरहिल के साथ लगते सांगटी के जंगल में कविता की लाश मिली थी. मृतका जिला शिमला के रामपुर क्षेत्र की कुहल पंचायत के मझाली गांव की रहने वाली थीं.

Tags: Farmer Suicide, Himachal pradesh, Shimla police, Suicide

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर