होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

फिर स्टडी टूर पर जाएंगे MC शिमला के पार्षद, हैदराबाद में जानेंगे ‘जल प्रबंधन’

फिर स्टडी टूर पर जाएंगे MC शिमला के पार्षद, हैदराबाद में जानेंगे ‘जल प्रबंधन’

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

नए साल में नगर निगम शिमला का यह पहला दौरा है, जिसमें गर्मी आने से ठीक पहले शहर को 24 घंटे पानी देने की योजना स्टडी की जाएगी.

    हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में भले ही शहरवासियों को हर साल पेयजल संकट से जूझना पड़ता हो, लेकिन नगर निगम शिमला के जनप्रतिनिधि किसी भी दौरे से पीछे नहीं हटते हैं. बात चाहे देश की हो या फिर विदेश की, निगम पार्षद हर दौरे के लिए अपनी हामी भर देते हैं. अब पार्षद हैदराबाद के दौरे पर जाएंगे.

    बेशक, शहर में कई साल से 24 घंटे पानी देने की योजना भले ही दम खाती नजर आती हो, लेकिन निगम के पार्षद इस योजना के तहत दूसरे शहरों का दौरा करने से पीछे नहीं हटते हैं. अब एक बार फिर नगर निगम शिमला के पार्षद और अधिकारी 24 घंटे पानी देने की योजना के नाम पर हैदराबाद शहर का दौरा करने जा रहे हैं. 23 से 27 फरवरी तक होने वाले दौरे के लिए अब तक निगम के करीब 28 पार्षदों ने अपनी हामी भरी है, लेकिन देखना होगा कि 22 फरवरी तक कितने पार्षद और अधिकारी इस दौरे में शामिल होते हैं.

    अधिकारी भी जाएंगे साथ
    शिमला जल प्रबंधन की ओर से आयोजित किए गए स्टडी टूर के लिए कुछ अधिकारी भी जा सकते हैं. मेयर कुसुम सदरेट का कहना है कि शहर के पांच वार्डों में नगर निगम जल्द ही 24 घंटे पानी देने जा रहा है, जिसके लिए सभी प्रक्रियाएं पुर हो चुकी हैं. जनप्रतिनिधि भी पानी की इस योजना को लेकर हैदराबाद का दौरा करने जा रहे हैं. अधिकतर पार्षदों ने अपनी हामी भरी है.

    गौरतलब है कि निगम पार्षदों ने अब तक करीब पांच शहरों का दौरा कर चुके हैं तीन राज्यों केरल, कर्नाटक और महारष्ट्र शहर के दौरों पर पार्षदों ने पानी की योजनाओं के प्रबंधन को जाना लेकिन शिमला में पेयजल संकट कभी खत्म नहीं हुआ. धरातल पर इन स्डटी टूर से कोई भी कार्य नहीं हो पाया है. उल्टा शहर की जनता को पानी का गम्भीर संकट भी झेलना पड़ा है.

    गर्मी का सीजन शुरू होने से पहले दौरा
    नए साल में नगर निगम शिमला का यह पहला दौरा है, जिसमें गर्मी आने से ठीक पहले शहर को 24 घंटे पानी देने की योजना स्टडी की जाएगी. मेयर कुसुम सदरेट का कहना है कि स्टडी टूर में उस शहर की गतिविधियों को सिखा जा सकता है, जिसे पर अमल अधिकारी ही कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह के दौरों पर सभी को जाना चाहिए.

    ये भी पढ़ें : BREAKING: पहाड़ी दरकी; JCB मशीन दबी, चंडीगढ़-मनाली हाईवे बंद

    अवैध कटान रोकने गई टीम पर माफिया ने चढ़ाई गाड़ी, डिप्टी रैंजर और गार्ड घायल

    चंबा: वाहन चेकिंग में 13 किलो 434 ग्राम चरस के साथ एक आरोपी गिरफ्तार

    सुर्खियां: HPU की फर्जी डिग्री मामले और परवाणू फायरिंग में हुईं गिरफ्तारियां

    PHOTOS: जानिए, हिमाचल प्रदेश के बड़े शहरों में क्या है आज पेट्रोल-डीजल के भाव

    देश का पहला ईको टूरिज्म विलेज बनेगा अटल बिहारी वाजपेयी का यह गांव

    Tags: Shimla

    अगली ख़बर