Himachal: 70 दिन से लापता महेंद्र को नहीं ढूंढ पाई शिमला पुलिस, कुत्ते ने ढूंढ़ निकाली पेड़ पर लटकती लाश

शिमला में युवक ने किया सुसाइड.(सांकेतिक तस्वीर)

शिमला में युवक ने किया सुसाइड.(सांकेतिक तस्वीर)

Shimla Crime News: शिमला के चिड़गांव का महेंद्र सिंह (38) 19 जनवरी को घर से अचानक लापता हो गया था. महेंद्र सिंह के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं. परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जताई है. वहीं, पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 8:26 AM IST
  • Share this:
शिमला. महेंद्र सिंह 70 दिन से लापता था. शिमला की स्मार्ट पुलिस भी उसे ढूंढ़ नहीं पाई. बाद में एक कुत्ते की मदद से उसकी लाश मिली. महेंद्र का शव पेड़ से लटका हुआ मिला है. परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जताई है. वहीं, पुलिस इसे आत्महत्या मान रही है.

जानकारी के अनुसार, शिमला के चिडग़ांव का महेंद्र सिंह (38) 19 जनवरी 2021को घर से अचानक लापता हो गया था. महेंद्र सिंह के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं. अब परिजनों और बच्चों की उम्मीद 70 दिन बाद टूट गई. महेंद्र का शव घर से 5 किलोमीटर की दूरी पर जंगल में पेड़ पर लटका मिला. चिडग़ांव चौकी में महेंद्र के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज़ करवाई गई थी, लेकिन पुलिस महेंद्र सिंह को नही ढूंढ पाई.

गड़रिये ने देखा शव

70 दिन बाद जब एक भेड़ पालक जंगल में भेड़े चराने गया तो उसके साथ कुत्ते ने एक शव को पेड़ पर देखा और भोंकने लगा. भेड़ पालक कुत्ते के पास गया तो देखा कि पेड़ से कपड़े के सहारे शव लटका पड़ा है. चिडग़ांव पुलिस को सूचित किया गया. पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि शव लापता महेंद्र सिंह का है. फिलहाल, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्ट व फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है.
क्या बोले पिता

महेंद्र सिंह के पिता अमीर चंद का कहना है कि उनका बेटा इस तरह से आत्महत्या नहीं कर सकता है. किसी ने बेटे की हत्या की है, इसलिए पुलिस मामले की गहनता से जांच करे. डीसीपी रोहड़ू सुनील नेगी का कहना है कि प्रथम दृष्ट्या मामला आत्महत्या का लग रहा है, लेकिन पोस्टमार्टम और अन्य जांच के बाद मामले के बारे में पुष्टि की जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज