लाइव टीवी

पार्षद स्टडी टूर पर जाएंगे अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह, प्लास्टिक मुक्त शहर करने के सीखेंगे गुर

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 5, 2019, 11:25 PM IST
पार्षद स्टडी टूर पर जाएंगे अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह, प्लास्टिक मुक्त शहर करने के सीखेंगे गुर
शिमला - अम्रुत योजना के तहत होने वाला यह दौरा अंडमान निकोबार द्वीप समूह का है.

एक्सपोजर विजिट (Exposure visit) उन कम्पनियों द्वारा करवाया जाता है जिसके सहयोग से शहर में कार्य किए जा रहे हैं. निगम के पार्षद और अधिकारी नई नई योजनाएं सीखते हैं और शहर में लोगों को भी जागरूक करते हैं.

  • Share this:
शिमला. नगर निगम शिमला (Shimla Municipal Corporation) के जनप्रतिनिधि (Public Representative) एक बार फिर स्टडी टूर (Study Tour) पर जाने की तैयारी कर रहे हैं. इस बार निगम के 34 पार्षदों समेत निगम के आधा दर्जन से ज्यादा अधिकारी भी दौरे पर जा रहे हैं. निगम के पार्षदों और अधिकारियों का यह दल जनवरी माह में पांच दिन के दौरे पर जा रहा है. अम्रुत योजना (Amrut Yojna) के तहत होने वाला यह दौरा अंडमान निकोबार द्वीप समूह (Andaman and Nicobar Islands) का है, जहां वे प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट के गुर सीखेंगे. इस दौरे में खाने पीने से लेकर रहने और आने जाने की व्यवस्था के लिए टेंडर आमंत्रित किए गए हैं. यह पहला मौका है जब नगर निगम शिमला खुली टेंडर प्रक्रिया के तहत इस व्यवस्था के लिए निविदाएं आमंत्रित कर रहा है.

पार्षद व अधिकारियों का एक्सपोजर विजिट

नगर निगम शिमला की मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि निगम हर साल किसी न किसी प्रोजेक्ट की जानकारी प्राप्त करने के लिए एक्सपोजर विजिट करता है. एक्सपोजर विजिट उन कम्पनियों द्वारा करवाया जाता है जिसके सहयोग से शहर में कार्य किए जा रहे हैं. एक्सपोजर विजिट में निगम के पार्षद और अधिकारी नई नई योजनाएं सीखते हैं और शहर में लोगों को भी जागरूक करते हैं. मेयर कुसुम का कहना है कि इस बार निगम के पार्षद और अधिकारी 7 से 11 जनवरी तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दौरे पर जा रहे हैं जिसमें प्लाटिक वेस्ट मनेजमेंट के बारे में जानकारी हासिल की जाएगी.

मेयर कुसुम का कहना है कि इस बार निगम के पार्षद और अधिकारी 7 से 11 जनवरी तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दौरे पर जा रहे हैं.


उन्होंने बताया कि प्रदेश में पहले से प्लास्टिक को पूरी तरह से बैन किया गया है, लेकिन फिर भी खाने पीने की सामग्री के माध्यम से प्लास्टिक प्रदेश में आ रहा है. इस प्लास्टिक को एकत्र कर निगम और प्रदेश सरकार मिलकर 75 रुपए किलो के हिसाब से खरीददारी कर रही है. अब निगम के पार्षद प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट के बारे में जानने के लिए इस दौरे पर जा रहे हैं ताकि बेहतर तकनीक सीख सकें.

ये भी पढ़ें - मंडी बस स्टैंड के पास 10 ग्राम चिट्टे के साथ युवक गिरफ्तार,होगी कोर्ट में पेशी

ये भी पढ़ें - क्रिसमस व न्यू ईयर को लेकर होटलों में बुकिंग तेज, पर्यटकों की आमद बढ़ी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 11:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर