मोहित चावला: पोस्टल क्लर्क से शिमला के SP पद तक का सफर
Shimla News in Hindi

मोहित चावला: पोस्टल क्लर्क से शिमला के SP पद तक का सफर
शिमला के नए एसपी मोहित चावला.

Shimla New SP Mohit Chawala: मोहित चावला काफी सख्त अफसर हैं. इससे पहले, वह सोलन (Solan) और मंडी (Mandi) में एसपी रह चुके हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) के नए एसपी मोहित चावला (Mohit Chawala) ने सोमवार को कार्यभार संभाला है. साल 2010 बैच के आईपीएस (IPS) अधिकारी चावला इससे पहले एडीसी (ADC) टू गवर्नर पद पर तैनात थे. मोहित चावला ने एसपी ओमापति जम्वाल का स्थान लिया. इससे पहले, वह, सोलन (Solan) और मंडी के एसपी रह चुके हैं.

कड़े संघर्ष के बाद पहुंचे यहां

मोहित चावला मूल रूप से कुल्लू जिले के रहने वाले हैं. लेकिन उनका परिवार काफी साल पहले, कुल्लू से अंबाला शिफ्ट हो गया था. 2001 में अंबाला में उन्होंने एक कंप्यूटर सैंटर में नौकरी की. इसके बाद उन्हें भारतीय डाक सेवा में पोस्टल क्लर्क की नौकरी. इसके बाद क़ड़ी मेहनत के बल पर बैंक में पीओ की नौकरी पर लगे. इसके बाद उन्होंने 2008 के बाद यूपीएससी एग्जाम की तैयारियां शुरू की और 2010 में आईपीएस सेवा के लिए चुने गए. सोलन में कसौली में अवैध निर्माण ढहाने के दौरान महिला अधिकारी की हत्याकांड में पुलिस की किरकिरी के बाद उन्हें सोलन से ट्रांसफर कर दिया गया था.



ये रहेंगी प्राथमिकता
कार्यभार संभालने के बाद मीडिया से बातचीत में मोहित चावला ने कहा कि हिमाचली होने के नाते यह सपना था कि शिमला में किसी न किसी पद पर सेवाएं दूं. शिमला का एसपी बनना सौभाग्य की बात है. उन्होंने कहा कि वर्तमान दौर में कोरोना महामारी से निपटना पहली प्राथमिकता रहेगी. पुलिस हर मोर्चे पर ढाल बनकर खड़ी रहेगी. चावला ने कहा कि सभी अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर शिमला पुलिस नागरिक केंद्रित प्राथमिकता पर काम करेगी. हर नागरिक का ख्याल रखा जाएगा, विशेष ध्यान इस बात पर रहेगा कि लोगों को शिकायत दर्ज करवाने से लेकर निपटारे तक थाने-चौकियों के चक्कर न काटने पड़े. नशे के खिलाफ अभियान पर नव नियुक्त एसपी ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता और दिशा-निर्देशों के तहत अभियान जारी रहेगा और इस लड़ाई में समाज के हर वर्ग की भागीदारी सुनिश्चित करवाई जाएगी.

क्राइम अगेंस्ट वूमन पर ये बोले एसपी

एसपी ने कहा कि महिलाएं सम्मान योग्य हैं. महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों पर जीरो टोलरेंस रहेगी. साथ ही कहा कि शिमला शहर से लेकर पूरे जिले की समस्याओं पर भी विशेष ध्यान रहेगा. अपराध से निपटने के लिए तकनीक का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज