शिमला में हादसा: खाई में गिरी पिकअप, 3 युवकों की मौत, 2 घायल
Shimla News in Hindi

शिमला में हादसा: खाई में गिरी पिकअप, 3 युवकों की मौत, 2 घायल
राहडू में हादसा.

Pick up Accident in Shimla: रोहड़ू के डीएसपी सुनील नेगी ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज करके दुर्घटना कारणों की तफ्तीश शुरू कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 2:30 PM IST
  • Share this:
रोहड़ू (शिमला). हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) ज़िला के रोहड़ू उपमण्डल के शरमाली में एक पिकअप के गहरी खाई में लुढ़कने से उसमें सवार 3 लोगों की मौत हो गई है. एक पिकअप गाड़ी सुंगरी-शरमाली सड़क में अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी. पिकअप में कालका (Kalka) के 5 युवक सवार थे. इस सड़क हादसे में 3 युवकों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि 2 युवकों को जख्मी हालत में नागरिक अस्पताल रोहड़ू में उपचार के लिए भर्ती करवाया गया है.

मौके पर गई जान
शुक्रवार देर शाम को हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जुट गई. हादसे में 2 युवकों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य युवक ने अस्पताल पहुँचने से पहले ही दम तोड़ दिया.

कालका के रहने वाले थे युवक
मृतकों की पहचान चालक निखिल कुमार (26), गौरव सिंह (26), विजय कुमार (23) के रूप में हुई है. घायलों की पहचान मनोज और विनोद के रूप में हुई है. ये सभी युवक कालका के रहने वाले बताए जा रहे है.उधर, रोहड़ू के डीएसपी सुनील नेगी ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज करके दुर्घटना कारणों की तफ्तीश शुरू कर दी है.



देर से पहुंची एंबूलेंस, तंग सड़क हादसे की वजह
वीनू मेहता ने बताया कि पुलिस और एंबूलेंस को तुरंत सूचना दे दी गई थी, लेकिन कोई भी समय पर नहीं पहुंच पाया. रोहड़ू से दूरी और तंग सड़क होने के चलते उन्हें पहुंचने में देरी हुई होगी. उन्होंने बताया कि बीते 5 सालों में इस मार्ग पर छोटे-बड़े दर्जनों एक्सीडेंट हुए हैं, जिसमें 30 से ज्यादा लोगों की जान चली गई है. सड़क की खराब हालत, चौड़ा न होना और पैराफिट न होना हादसे की मुख्य वजह है.
ये बोले डीएसपी
डीएसपी सुनील नेगी बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. प्रारंभिक जानकारी के अनुसार एचआर 68- 3536 नंबर की पिकअप शाम गाड़ी सुंगरी से रोहड़ू की ओर जा रही थी. गाड़ी में सवार ये पांचों लोग सेब की ग्रेडिंग पैकिंग का काम करने के लिए आए थे. रात होने के कारण राहत और बचाव कार्य में मुश्किलों का सामना करना पड़ा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज