हिमाचल: आधी रात ‘शराब के नशे’ में शिकायत निपटाने पहुंची शिमला पुलिस पिटी

शिमला पुलिस के एसएसपी प्रवीर ठाकुर जांच के दौरान.

शिमला पुलिस के एसएसपी प्रवीर ठाकुर जांच के दौरान.

Shimla Police Controversy: छेड़खानी का आरोप लगाने वाली युवती का कहना है कि रात को करीब 2:30 बजे दो पुलिसकर्मी नशे की हालत में कमरे में घुसे. कमरे की कुंडी खुली थी, क्योंकि उसके भाई जागे हुए थे और वो अपने बेड पर पढ़ाई कर रही थी. पुलिसकर्मियों ने उसकी रजाई खिंची और ये कहा कि कोई लड़ाई-झगड़े का मामला है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) में एक ऐसा मामला सामने आया है, जहां शिकायत का निपटारा करने पहुंचे दो पुलिसकर्मियों की आरोपियों ने ही पिटाई कर दी. इतना ही नहीं आरोप है कि पिटाई करने वाले युवकों ने पुलिसकर्मी की वर्दी फाड़ दी, उनकी इतनी पिटाई की कि एक पुलिसकर्मी आईजीएमसी (IGMC) में भर्ती हो गया. पुलिसकर्मियों पर आरोप है कि वो सोमवार देर रात करीब 2:30 बजे शराब के नशे में जबरन आरोपी युवक के कमरे में घुसे. आरोपी युवक की बहन के साथ पहले बदतमीजी की और उसके साथ छेड़खानी की. इसी बात पर पुलिसकर्मियों (Policemen) और युवकों के बीच मारपीट हुई.

क्या है मामला

पूरे मामले पर एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि ये घटना कसुम्पटी चौकी के तहर लोअर पंथाघाटी क्षेत्र की है. पुलिस के पास जो शिकायत आई थी, उसके मुताबिक झगड़े की शुरूआत किसी दूसरे घर से हुई. जिन युवकों पर पुलिसकर्मियों की पिटाई का आरोप है, उनमें से एक रात को करीब 12 बजे अपने किसी परिचित के पास बाइक मांगने गया था, जिस युवक से बाइक मांगी जा रही थी, उसके साथ एक लड़की भी थी. लड़के ने उसे बाइक देने से मना कर दिया तो दोनों के बीच झगड़ा हो गया.इस दौरान लड़का-लड़की ने आरोपी युवक के खिलाफ पुलिस को शिकायत दी और आरोपी अपने कमरे में वापस चला गया.


दो जवान पहुंचे थे


शिकायत का निपटारा करने के लिए कसुम्पटी चौकी के दो जवान मौके पर पहुंचे और आरोपी युवक के कमरे में पहुंचे. आरोपी युवक यहां किराए के कमरे में रहता है. एडिश्नल एसपी ने बताया कि जवान उनके कमरे पहुंचे, पुलिसवालों को इस बात की जानकारी नहीं थी कि उनके साथ लड़की भी रहती है और न ही शिकायकर्ता ने कुछ बताया. पुलिसकर्मियों का आरोप है कि उन्हें अंदर आने से रोका गया और उन पर कमरे में मौजूद युवकों ने मारपीट कर दी और वर्दी भी फाड़ी. एक पुलिसकर्मी को माथे पर काफी चोट आई है और आईजीएमसी में भर्ती है.

तीन अलग-अलग केस दर्ज



एएसपी प्रवीर ने कहा कि लड़की का आरोप है कि पुलिस जबरदस्ती कमरे के भीतर घुसी और उसके साथ छेड़खानी की. पुलिसकर्मियों की शिकायत पर युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा 353,32 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है. लड़का-लड़की की शिकायत पर झगड़ा करने वाले युवक पर आईपीसी की धारा 147,149 और 509 के तहत मामला दर्ज किया गया है और लड़की शिकायत पर महिला पुलिस थाने में पुलिसकर्मियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 354 504 509 के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस मामले में मुख्य आरोपी, उसके छोटे भाई और उनके एक और साथी को हिरासत में लिया गया है. एएसपी ने कहा कि सभी का मेडिकल करवाया जा रहा है और नियमों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जा रही है.

युवती ने लगाया आरोप

छेड़खानी का आरोप लगाने वाली युवती का कहना है कि रात को करीब 2:30 बजे दो पुलिसकर्मी नशे की हालत में कमरे में घुसे. कमरे की कुंडी खुली थी, क्योंकि उसके भाई जागे हुए थे और वो अपने बेड पर पढ़ाई कर रही थी. पुलिसकर्मियों ने उसकी रजाई खिंची और ये कहा कि कोई लड़ाई-झगड़े का मामला है. लड़की ने कहा कि वो बार-बार पुलिसवालों से पूछ रही थी आप क्यों आएं...और इस तरह आने का विरोध कर रही थी. विरोध करने पर पुलिसकर्मियों ने बदतमीजी शुरू कर दी, गाली-गलौज किया और निजी अंगो पर हाथ लगाया. इस बीच मेरे भाईयों ने विरोध किया तो उनके साथ मारपीट शुरू कर दी. पुलिसकर्मियों के साथ हुई मारपीट पर लड़की ने कहा कि वो एक्शन का रिएक्शन था. उसके भाई ये कह रहे थे कि दीदी को हाथ कैसे लगाया. लड़की ने सुबह पुलिसकर्मियों के खिलाफ महिला थाने में शिकायत दर्ज करवाई है. इस पर एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर, छोटा शिमला थाना के एसएचओ और महिला थाने की टीम ने मौके पहुंची. सभी के बयान दर्ज किए और साक्ष्य भी जुटाए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज