शिमला की स्मार्ट पुलिस लापता शुभम को ढूंढने में नाकाम, माता-पिता पूरी तरह टूटे
Shimla News in Hindi

शिमला की स्मार्ट पुलिस लापता शुभम को ढूंढने में नाकाम, माता-पिता पूरी तरह टूटे
शिमला के शुभम का सुराग देने पर एक लाख रुपये इनाम दिया जाएगा.

एसआईटी प्रमुख एएसपी प्रवीर ठाकुर ने का कहना है कि इस क्षेत्र में काफी जंगल है,ढांक है. पुलिस ने 22-23 किलोमीटर के क्षेत्र को छाना है. शुभम के संभावित लास्ट स्पॉट से लेकर बटेवड़ी,सैंज,धार और दांदी समेत सभी इलाकों में सर्च अभियान चलाया. हर पहलू पर जांच की, एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के शिमला (Shimla) जिले में 8 महीने से लापता शुभम को ढूंढने में शिमला की स्मार्ट पुलिस अब तक नाकाम साबित हुई है.इस मामले में पुलिस पर लगातार सवाल उठ रहे हैं. वहीं दूसरी ओर, शुभम (Shubham Missing Case) के माता-पिता बेहाल हैं. ग्राम पंचायत कटलाह के उप प्रधान अंकुश लेक्टा ने बताया कि जिगर के टुकड़े की याद में शुभम के माता-पिता पूरी तरह टूट गए हैं.

माता-पिता का भरोसा टूटा
सरकार और पुलिस पर भरोसा टूट चुका है. केवल भग्वान पर विश्वास रह गया है. अंकुश ने ये भी बताया कि बेहाल माता-पिता ने समाज में मिलना-जुलना तक छोड़ दिया है. जब भी कहीं आते-जाते हैं तो रो-रो कर अपना दुखड़ा बयां करते हैं. वो चाहते तो हैं कि अदालत जाकर सीबीआई जांच की मांग करें, लेकिन गरीबी इजाजत नहीं दे रही. वकील को देने के लिए पैसे नहीं हैं. अब सब कुछ भगवान पर छोड़ दिया है. पुलिस पर सवाल लगातार उठ रहे हैं. स्थानीय लोगों का कहना है कि किसी बड़े या रसूखदार का बेटा होता तो पुलिस अब तक ढूंढ निकालती. शुभम गरीब का बेटा है इसलिए सही कार्रवाई अमल में नहीं लाई जा रही है.
30 नवंबर 2019 से लापता है शुभम
रोहड़ू का रहने वाला 23 वर्षीय शुभम 30 नवंबर 2019 को ठियोग उपमंडल के देहा थाना क्षेत्र के तहत धार के जंगल में रहस्यमयी तरीके से लापता हुआ था. पुलिस ने तलाशी अभियान भी चलाया. सैकड़ों की संख्या में पुलिसकर्मी और स्थानीय लोगों की मदद से जंगल की खाक छानी लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ. ऐसा नजर आया कि पुलिस अंधेरे में तीर मारती रही. पहले उस क्षेत्र की भौगोलिक परिस्थिति फिर बर्फबारी और अब कोरोना को अपनी नाकामी छुपाने का बहाना बनाया जा रहा है. अब पुलिस ने सुराग देने वाले को एक लाख रुपये देने का ऐलान किया है.
ये बोले ASP


इस मामले को लेकर गठित एसआईटी प्रमुख एएसपी प्रवीर ठाकुर ने का कहना है कि इस क्षेत्र में काफी जंगल है,ढांक है. पुलिस ने 22-23 किलोमीटर के क्षेत्र को छाना है. शुभम के संभावित लास्ट स्पॉट से लेकर बटेवड़ी,सैंज,धार और दांदी समेत सभी इलाकों में सर्च अभियान चलाया. हर पहलू पर जांच की, एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया. एएसपी ने कहा कि कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंस को देखते हुए फोर्स ले जाना कठिन है लेकिन एक दो दिनों के भीतर पुलिस फिर से तलाशी अभियान शुरू करेगी.

नार्को टेस्ट पर आरोपी का इनकार
उन्होंने कहा कि आरोपी का पॉलीग्राफ टेस्ट किया गया था लेकिन उससे कुछ खास जानकारी हासिल नहीं हुई. पुलिस आरोपी पुनीत का नार्को टेस्ट करवाना चाहती थी लेकिन आरेपी ने अदालत में इनकार कर दिया. अब पुलिस फिर से विचार कर रही है कि अदालत में अर्जी दी जाए या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading