लाइव टीवी

टपकता है 8 करोड़ से रेनोवेट हुआ शिमला का टाउनहाल, अब डिप्टी मेयर का कमरा भीगा

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 28, 2019, 5:35 PM IST
टपकता है 8 करोड़ से रेनोवेट हुआ शिमला का टाउनहाल, अब डिप्टी मेयर का कमरा भीगा
शिमला का टाउन हॉल.

Shimla Town Hall: गौरतलब है कि इस एतिहासिक धरोहर को संजोने के लिए एशियन डवेलपमेंट बैंक के सहयोग से पर्यटन विभाग ने करीब आठ करोड़ रुपए से जीर्णोद्वार का कार्य किया है. साल 2014 में शुरु हुआ जीर्णोद्वार का कार्य 2018 में पूरा हुआ था.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की शिमला शहर (Shimla City) के सबसे खुबसूरत भवन टाउनहॉल (Town Hall) में पानी रिसता है. आठ करोड़ रुपये में बनाए गए इस भवन में बुधवार रात को हुई बारिश का पानी डिप्टी मेयर (Deputy Mayor) के टेबल तक पहुंच गया है. एक दिन पहले टाउनहॉल की छत (Roof Leakage) से मेयर कार्यालय के मुख्य द्वार और दूसरे कमरे में टपका था.

अब उसी छत का पानी डिप्टी मेयर के टेबल पर टपका है. पानी से टेबल पर रखी फ़ाइल और सरकारी दस्तावेज भी खराब हो गए, लेकिन विभाग के कानों पर जूं भी नहीं रेंग रही है. छत से रिसने वाले पानी से एक तरफ जहाँ फर्श की लकड़ी सड़ रही है, वहीं, दूसरी तरफ, टाउनहॉल में किया पॉलिश भी पूरी तरह से खराब हो गया है.

आठ करोड़ में टाउन हाल की रेनावेशन हुई है.
आठ करोड़ में टाउन हाल की रेनावेशन हुई है.


डिप्टी मेयर ने दिया यह तर्क

टाउन हॉल में रिसने वाले पानी को लेकर राकेश शर्मा, डिप्टी मेयर, एमसी शिमला ने तर्क दिया कि शिमला के बंदर आए दिन आतंक मचाते रहते हैं और भवनों की छतों पर उच्छल-कूद करते रहते हैं. टाउन हॉल की छत पर स्लेट लगे हुए हैं, जिसके चलते यह हिल गए होंगे और बारिश का पानी रिस रहा होगा.

स्लेट को दुरुस्त करने के लिए कहा
उन्होंने बताया कि निगम अधिकारियों ने पर्यटन विभाग से स्लेट को दुरुस्त करने के लिए कहा है, ताकि सर्दियों में बारिश और बर्फ का पानी दोबारा न टपके. उन्होंने कहा कि करीब आठ करोड़ रुपये पर्यटन विभाग ने टाउन हॉल का जीर्णोद्वार किया है. इसके निर्माण में उठने वाले सवालों को लेकर मुख्यमंत्री ने जांच करने के निर्देश दिए हैं और जल्द ही जांच रिपोर्ट भी सामने आ जाएगी.
Loading...

डिप्टी मेयर के कमरे में बारिश का पानी.
डिप्टी मेयर के कमरे में बारिश का पानी.


सीएम ने दिए हैं जांच के आदेश
गौरतलब है कि इस एतिहासिक धरोहर को संजोने के लिए एशियन डवेलपमेंट बैंक के सहयोग से पर्यटन विभाग ने करीब आठ करोड़ रुपए से जीर्णोद्वार का कार्य किया है. साल 2014 में शुरु हुआ जीर्णोद्वार का कार्य 2018 में पूरा हुआ. लेकिन निर्माण कार्य के दौरान भी पूर्व माकपा शासित नगर निगम मेयर और डिप्टी मेयर ने घटिया निर्माण को लेकर सवाल उठाए थे. साथ ही एडीबी को भी कई बार पत्र लिखकर जांच करने की मांग की, लेकिन तत्कालीन प्रदेश सरकार ने इस पर कोई गंभीरता नहीं दिखाई और निर्माण कार्य होता रहा. कार्य पूरा होने के बाद जब टाउनहॉल का उद्घाटन मुख्यमंत्री ने किया तो उस दिन भी हॉल की दीवार में पड़े छेद और उखड़ी पापड़ी को प्लास्टर से दबाने की कोशिश की गई, लेकिन जब इसकी भनक मुख्यमंत्री को लगी तो उन्होंने इस पर जांच करने की बात कही थी लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी जांच का कोई अता-पता नहीं है.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: हिमाचल के रोहतांग में 5 फुट, जलोड़ी दर्रे और कोकसर में ढाई फीट बर्फबारी

हिमाचल में शादी समारोह से लौट रहे 5 दोस्तों की कार खाई में गिरी, 4 की मौत

कुल्लू में एकतरफा प्यार में प्रेमी ने विवाहिता के क्वार्टर के बाहर किया सुसाइड

25 लाख की इलेक्ट्रिक कार में CM पहुंचे दफ्तर, ट्रांसपोर्ट विभाग ने दी है गिफ्ट

एक बार फिर हिमाचल आएंगे अमित शाह, सरकार के जश्न में होंगे शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 4:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...