Assembly Banner 2021

शिमला में झमाझम बारिश, लेकिन फिर गहराएगा जल संकट!

शिमला में जल संकट.

शिमला में जल संकट.

पिछले तीन दिनों में जिन पेयजल योजनाओं से निगम को करीब 31 MLD पानी की आपूर्ति हो रही है, वहां से शुक्रवार को करीब 7 MLD घटकर करीब 24.16 तक पहुंच गई है. इससे शिमला में एक बार फिर जल संकट गहरा सकता है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक बार फिर जल संकट गहरा सकता है. शुक्रवार को जहां शिमला में झमाझम बारिश हुई है, लेकिन इससे राहत कम, मुश्किल ज्यादा होने वाली है. दरअसल, बारिश की वजह से पानी के स्रोतों में गाद बढ़ जाएगी और इस वजह पानी की आपूर्ति कम होगी.

पानी की आपूर्ति में कमी हुई
शुक्रवार को भी शिमला के लिए पानी की आपूर्ति सात एमएलडी कम हुई है. विभिन्न पेयजल योजनाओं से मिलने वाली पानी की मात्रा में दिनोंदिन गिरावट नजर आ रही है.

पिछले तीन दिनों में जिन पेयजल योजनाओं से निगम को करीब 31 MLD पानी की आपूर्ति हो रही है, वहां से शुक्रवार को करीब 7 MLD घटकर करीब 24.16 तक पहुंच गई है. इससे शिमला में एक बार फिर जल संकट गहरा सकता है.
गाद के कारण पानी सप्लाई गिरेगी


पानी के कम आपूर्ति होने पर नगर निगम शिमला ने इनदिनों हो रही बारिश से खड्डों में गाद आने को इसका कारण माना है. डिप्टी मेयर राकेश शर्मा ने बताया कि इन दिनों शिमला और आसपास के क्षेत्रों में बारिश हो रही है, जिससे पानी के सोर्सों में गाद आ जाती है. इससे पानी की पंपिंग में विभाग को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है.

पर्याप्त मात्रा में पानी मुहैया करवाया गया : डिप्टी मेयर
डिप्टी मेयर ने बताया कि शहर में जल संकट की समस्या अब सामान्य हो गई है. लोगों को प्रेशर के साथ पर्याप्त मात्रा में पानी की आपूर्ति की जा रही है. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को जिन क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति की जानी थी, उन क्षेत्र के लोगों को पर्याप्त मात्रा में पानी मुहैया करवाया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज