Shimla : रिप्पन अस्पताल में कोविड पेशेंट की खुदकुशी मामले में महिला आयोग ने मांगी रिपोर्ट

चौपाल की रहने वाली महिला (53) ने मंगलवार रात करीब 12 बजकर 5 मिनट पर रिप्पन अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के बाहर फंदा लगा कर अपनी जान दे दी थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
चौपाल की रहने वाली महिला (53) ने मंगलवार रात करीब 12 बजकर 5 मिनट पर रिप्पन अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के बाहर फंदा लगा कर अपनी जान दे दी थी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ डेजी ठाकुर ने बताया कि कोरोना संक्रमित महिला का आत्महत्या करना दुखद है. अब तक इस मामले में क्या कार्रवाई की गई है, आयोग ने उसकी रिपोर्ट मांगी है. रिपोर्ट आने के बाद पूरे मामले को देखा जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 6:21 PM IST
  • Share this:
शिमला. राजधानी शिमला (Shimla) के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल (Rippon Hospital) में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित महिला की खुदखुशी (Suicide) करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. गौरतलब है कि इस रिप्पन अस्पताल को कोविड केअर सेंटर (Covid Care Center) बनाया गया है. इस मामले को लेकर शहर में धरना-प्रदर्शन का दौर जारी है साथ ही लोग चक्का जाम भी कर रहे हैं. विपक्ष भी इस मुद्दे पर सरकार की कार्यप्रणाली पर लगातार सवाल उठा रहा है. इस मामले की गंभीरता को देखते हुए अब राज्य महिला आयोग (State Commission For Women) ने भी इस पर संज्ञान लिया है. आयोग ने मामले में दखल देते हुए एसपी शिमला से एक्शन टेकन रिपोर्ट (ATR) मांगी है. पुलिस को 10 से 15 दिनों के भीतर आयोग को जवाब देना होता है. महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ डेजी ठाकुर ने बताया कि कोरोना संक्रमित महिला का आत्महत्या करना दुखद है. अब तक इस मामले में क्या कार्रवाई की गई है, आयोग ने उसकी रिपोर्ट मांगी है. रिपोर्ट आने के बाद पूरे मामले को देखा जाएगा, जिसके बाद आयोग भी अपने स्तर पर कार्रवाही करेगा.

मैजिस्ट्रेट कर रहे जांच

इस मामले पर एसपी मोहित चावला ने बताया कि पुलिस प्रशासन की ओर से मामले में कार्रवाई की जा रही है. फिलहाल किसी भी ठोस कार्रवाई के लिए महिला की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार किया जा रहा है. मामले पर मजिस्ट्रेट के द्वारा जांच की जा रही है. जांच में जो कुछ भी सामने आएगा, वह रिपोर्ट महिला आयोग को भी भेज दी जाएगी.



मंगलवार को की थी खुदकुशी
बता दें कि चौपाल की रहने वाली महिला (53) ने मंगलवार रात करीब 12 बजकर 5 मिनट पर रिप्पन अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड के बाहर फंदा लगा कर अपनी जान दे दी थी. मामले के बाद से ही अस्पताल प्रशासन की कार्य व्यवस्था पर सवाल उठाया जा रहा है. सरकारी स्तर पर मामले की जांच शुरू कर दी गई है और अस्पताल के एमएस को बदल दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज