अपना शहर चुनें

States

शिमला की 850 स्ट्रीट लाइटें होंगी दुरुस्त, कुत्तों की नसबंदी करवाने पर मिलेगा ईनाम

अब नसबंदी के लिए कुत्तों को पकड़कर लाने वालों को प्रोत्साहन राशि के रूप में 300 रुपये मिलेगी.
अब नसबंदी के लिए कुत्तों को पकड़कर लाने वालों को प्रोत्साहन राशि के रूप में 300 रुपये मिलेगी.

राजधानी शिमला में 850 स्ट्रीट लाइटें (Streets Lights) खराब पड़ी है और अब उनको ठीक किया जाएगा. इसके लिए नगर निगम (Municipal Corporation Of Shimla) की वित्त संविदा समिति ने 2.41 लाख को मंजूरी दी है.

  • Share this:
शिमला. राजधानी शिमला में खराब पड़ी स्ट्रीट लाइटों (Street Lights) की अब नगर निगम (Municipal Corporation Of Shimla)  सुध लेगा. शहर में 850 स्ट्रीट लाइटें खराब पड़ी है और अब उनको ठीक किया जाएगा. इसके लिए नगर निगम की वित्त संविदा समिति ने 2.41 लाख को मंजूरी दी है. इस राशि से इन स्ट्रीट लाइटों को ठीक किया जाएगा. आज हुई समिति की बैठक में इसे मंजूरी दी गई. मेयर सत्या कौंडल (Mayor Satya Kondal) की अध्यक्षता मे हुई बैठक में कच्ची घाटी में प्रस्तावित सामुदायिक केंद्र के निर्माण को रखे पैसे को किसी अन्य विकास कार्य पर खर्च करने की मंजूरी दी. वहां 50 लाख से यह केंद्र बनना था, लेकिन वन स्वीकृति नहीं मिलने के कारण अब इस राशि को किसी दूसरे कार्य पर खर्च करने पर मुहर लगाई गई.

बहुमंजिला पार्किंग के लिए सरकार से की जाएगी बातचीत

इस बैठक में छोटा शिमला स्थित बनी बहुमंजिला पार्किंग व वाणिज्यिक केंद्र के मामले को सरकार से उठाने का निर्णय लिया. मामले को सुलझाने की दिशा में नगर निगम ने अब गेंद सरकार के पाले में डालने की बात कही हैं. वहीं, अब नसबंदी के लिए कुत्तों को पकड़कर लाने वालों को प्रोत्साहन राशि के रूप में 300 रुपये मिलेगी. इसे भी आज की बैठक में मंजूरी दी गई. मेयर सत्या कौंडल ने बताया कि मेयर बनने के बाद पहली वित्त संविदा एवं योजना समिति की बैठक की गई है, जिसमें पहली बैठक में शहर से जुड़े मुद्दों को लेकर चर्चा हुई है.



कुत्तों को नसबंदी के लिए पकड़कर लाने वालों को मिलेंगे 300 रुपये
पहली बैठक में शहर में खराब पड़ी स्ट्रीट लाईट को दुरुस्त करने के लिए हिमऊर्जा के साथ करार किया गया है. पहले जो कंपनी स्ट्रीट लाइट की देखरेख का कार्य देखती थी. उसके साथ निगम ने करार समाप्त कर दिया है. उन्होंने बताया कि इसके अलावा जो सामुदायिक केंद्र कच्चीघाटी वार्ड में बनना था, उसके लिए वन स्वीकृति नहीं मिलने से उस पैसे को कहीं अन्य जगह पर खर्च किया जाएगा. इसके अलावा शहर में आवारा कुत्तों की नसबंदी करवाने के लिए कुत्तों को लाने वाले लोगों को प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: नए साल पर 900 क्विंटल प्याज की खेप पहुंचेगी हिमाचल, सस्ते दरों पर बेचेगी सरकार

CM की सभा में पिता की बेइज्जती पर बोले आश्रय शर्मा-क्या वे BJP MLA नहीं हैं?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज