लाइव टीवी

सीएम जयराम ठाकुर का ड्रीम प्रोजेक्ट है शिव धाम, 12 ज्योतिर्लिंग के मॉडल होंगे स्थापित
Shimla News in Hindi

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 23, 2020, 7:20 PM IST
सीएम जयराम ठाकुर का ड्रीम प्रोजेक्ट है शिव धाम, 12 ज्योतिर्लिंग के मॉडल होंगे स्थापित
पर्यटन विभाग की ओर से शिवधाम मॉडल की प्रेजेंटेशन सीएम जयराम ठाकुर को दी गई.

छोटी काशी (Chhoti Kashi) और शिव की भूमि के नाम से मशहूर मंडी (Mandi) अब शिवधाम (Shivdham) का गवाह बनेगा. जयराम सरकार (Jairam Government) अपने ड्रीम प्रोजेक्ट शिवधाम को धरातल पर उतारेन में जुट गई है. शिवरात्रित महोत्सव मंडी का शुभारंभ करने के बाद शिमला लौटे सीएम जयराम ठाकुर को पर्यटन विभाग की ओर से शिवधाम मॉडल की प्रेजेंटेशन दी गई.

  • Share this:
शिमला. छोटी काशी (Chhoti Kashi) और शिव की भूमि के नाम से मशहूर मंडी (Mandi) अब शिवधाम (Shivdham) का गवाह बनेगा. जयराम सरकार (Jairam Government) अपने ड्रीम प्रोजेक्ट शिवधाम को धरातल पर उतारेन में जुट गई है. शिवरात्रित महोत्सव मंडी का शुभारंभ
करने के बाद शिमला लौटे सीएम जयराम ठाकुर ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों को तलब किया. पर्यटन विभाग की ओर से शिवधाम मॉडल की प्रेजेंटेशन सीएम जयराम ठाकुर को दी गई. जयराम सरकार चाहती है कि मंडी में ही 12 प्रमुख ज्योतिर्लिंग (Jyotirlinga) के दर्शन हों. उनके मॉडल छोटी काशी मंडी में स्थापित होंगे.

बारह ज्योतिर्लिंग के प्रतिरूप तैयार किए जाएंगे

इन बारह ज्योतिर्लिंग में गुजरात के गीर सोमनाथ में सोमनाथ, आंध्र प्रदेश के श्रीशैलम में मल्लिकार्जुन, मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकालेश्वर, मध्य प्रदेश के खंडवा में ओंकारेश्वर, उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में केदारनाथ, महाराष्ट्र में भीमाशंकर, उत्तर प्रदेश के वाराणसी में विश्वनाथ, महाराष्ट्र के नासिक में त्र्यंबकेश्वर,



महाराष्ट्र के परली में वैद्यनाथ, गुजरात के द्वारका में नागेश्वर, तमिलनाडू के रामेश्वरम में रामनाथस्वामी और महाराष्ट्र के औरंगाबाद में ग्रिशनेश्वर के प्रतिरूप तैयार करना है.

मंडी में शिवधाम के निर्माण को लेकर सीएम जयराम ठाकुर ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की.


पर्यावरण को कम-से-कम नुकसान पहुंचाना होगा उद्देश्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिव धाम का विकास करते समय यह सुनिश्चित किया जाएगा कि क्षेत्र की परिस्थितियों और पर्यावरण को कम से कम नुकसान हो. उन्होंने कहा कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना के लिए बाह्य वित्त पोषण उपलब्ध करवाने के भी प्रयास किए जाएंगे. इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव
पर्यटन आर.डी. धीमान, निदेशक पर्यटन यूनुस, प्रबंध निदेशक पर्यटन कुमुद सिंह और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे.

ये भी पढ़ें - हिमाचल विधासभा का बजट सत्र : स्पीकर के नाम पर कल विचार करेगी भाजपा

ये भी पढ़ें - शराब सस्ती करने के विरोध में सड़कों पर युवा कांग्रेस, सरकार को भेजा ज्ञापन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2020, 7:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर