शिमला में बंदरों और कुत्तों का आतंक, 15 लोगों को काटा

शिमला शहर मे बंदरों का आतंक इतना हो गया है कि हर माह दर्जनों लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं. अकेले जून में ही 122 बंदरों के काटने के मामले आईजीएमसी हॉस्पिटल में पहुंचे हैं.

News18 Himachal Pradesh
Updated: July 22, 2019, 10:40 AM IST
शिमला में बंदरों और कुत्तों का आतंक, 15 लोगों को काटा
शिमला में बंदरों और कुत्तों ने लोगों को अपना शिकार बनाया है.
News18 Himachal Pradesh
Updated: July 22, 2019, 10:40 AM IST
हिमाचल की राजधानी में बंदरों और आवारा कुत्तों का आंतक लगातार देखने को मिल रहा है. ताजा मामले में 9 लोगों को बंदरों ने काटा है. वहीं, 6 लोग कुत्तों का शिकार बने हैं. ये मामले रविवार को सामने आए हैं.

बंदरों के साथ-साथ कुत्तों का आतंक
एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, वन विभाग और एमसी प्रशासन सोया हुआ है. बंदरों से लोगों को कैसे निजात दिलाई जाए, इसके लिए न तो विभाग में कोई पॉलिसी बनाई जा रही है और ना ही ऐेसी कोई मंशा है. रविवार को भी डीडीयू और आईजीएमसी अस्पताल में बंदरों के के काटने के बाद 9 लोग इंजेक्शन लगवाने पहुंचे, जबकि 6 लोगों को कुत्तों ने भी काटा.

यहां-यहां से पहुंचे मामले

डीडीयू अस्पताल में बंदरों के काटने से अन्नाडेल, टुटू, चक्कर, जाखू और संजौली से मामले पहुंचे हैं. असम से जाखू मंदिर देखने गए एक पर्यटक को भी बंदरों ने काट खाया है. डीडीयू में कार्यरत कर्मचारी नरोत्त्म को भी बालूगंज स्थित उनके कमरे के बाहर ही कुत्ते ने काट लिया. वहीं, बंदर के हमले में घायल हुए रितिक का चंडीगढ़ में इलाज चल रहा है. छह दिन बाद वह कोमा से तो बाहर आ गया है, लेकिन उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

जून में 122 मामले सामने आए
शिमला शहर मे बंदरों का आतंक इतना हो गया है कि हर माह दर्जनों लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं. अकेले जून में ही 122 बंदरों के काटने के मामले आईजीएमसी हॉस्पिटल में पहुंचे हैं. वहीं वन विभाग के मुताबिक शिमला शहर में बंदरों की संख्या 2156 से ज्यादा है, जिनकी नसबंदी की जा चुकी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 10:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...