लाइव टीवी

स्मार्ट सिटी सर्वेक्षण : 29 फरवरी तक शिमलावासी दे सकते हैं सिटीजन फीडबैक
Shimla News in Hindi

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: February 3, 2020, 5:31 PM IST
स्मार्ट सिटी सर्वेक्षण : 29 फरवरी तक शिमलावासी दे सकते हैं सिटीजन फीडबैक
नगर निगम संयुक्त आयुक्त अजीत भारद्वाज ने बताया कि शहर के सभी नागरिकों से जीवन सूचकांक के निर्धारण के लिए अपना फीडबैक देने की अपील की गई है.

सर्वेक्षण में धर्मशाला (Dharamshala) और शिमला (Shimla) दोनों शहर भाग ले रहे हैं, जिसका आंकलन देश भर के अन्य स्मार्ट सिटी शहरों के साथ होगा. इस सर्वे के तहत शहरवासियों को सड़क, सुरक्षा, यातायात, गारबेज और बैंकिंग से लेकर विभिन्न पहलुओं पर अपना फीडबैक (Feedback) देना होगा.

  • Share this:
शिमला. स्मार्ट सिटी (Smart City) का आंकलन करने के लिए केंद्रीय आवास एवं नगरीय विकास मंत्रालय भारत सरकार (Union Ministry of Housing and Urban Development) की ओर से इज ऑफ लिविंग इंडेक्स का सर्वे शुरू किया गया है. इस सर्वे में देशभर के 100 स्मार्ट सिटी में शामिल शहर भाग लेंगे. इस सर्वेक्षण (Survey)के तहत हर नागरिक जीवन सुगमता सूचकांक के निर्धारण के लिए अपने शहर में उपलब्ध सुविधाओं व सेवाओं के संबंध में फीडबैक दे सकेगा. ऐसे में शहर की आम जनता को 'बढ़िया शहर है मेरा शिमला' को अपना फीडबैक देना होगा तभी शिमला शहर इस सर्वें में बेहतरीन रैंकिंग पर पहुंच पाएगा. इस सर्वे के लिए शहर की आम जनता 29 फरवरी तक eol2019.org/citizenfeedback लिंक पर फीडबैक दे सकते हैं.

... ताकि सर्वेक्षण में शिमला शहर को बढ़िया रैंकिंग मिल सके

नगर निगम संयुक्त आयुक्त अजीत भारद्वाज ने बताया कि शहर के सभी नागरिकों से जीवन सूचकांक के निर्धारण के लिए अपना फीडबैक देने की अपील की गई है ताकि सर्वेक्षण में शिमला शहर को बढ़िया रैंकिंग मिल सके. इस सर्वेक्षण में इस बार 94 जीवन सुगमता सूचकांक शामिल है. पहली बार 154 नगरीय निकाय, प्रदर्शन सूचकांक भी सर्वे में शामिल है.

फीडबैक के आधार पर स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट कार्यों को अमलीजामा पहनाया जाएगा

उन्होंने बताया कि इस सर्वेक्षण में धर्मशाला और शिमला दोनों शहर भाग ले रहे हैं, जिसका आंकलन देश भर के अन्य स्मार्ट सिटी शहरों के साथ होगा. उन्होंने बताया कि इस सर्वे के तहत शहरवासियों को सड़क, सुरक्षा, यातायात, गारबेज और बैंकिंग से लेकर विभिन्न पहलुओं पर अपना फीडबैक देना होगा. साथ ही नगर निगम शिमला द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में फीडबैक देना होगा. इसके बाद सर्वेक्षण के तहत आंकलन किया जाएगा. उन्होंने बताया कि शहरवासियों के फीडबैक के आधार पर स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट कार्यों को अमलीजामा पहनाया जा सकेगा.

ये भी पढ़ें - दो दिन पहले 300 करोड़ लिए, अब फिर 200 करोड़ कर्ज लेगी हिमाचल सरकार

ये भी पढ़ें - CM जयराम दिल्ली चुनाव प्रचार में व्यस्त और राज्य की जनता त्रस्त- कांग्रेस 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 5:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर