राम मंदिर शिलान्यास: जिन्होंने लिखी रामायण, शिमला में उन्हीं के मंदिर की मिट्टी लेना भूली VHP
Shimla News in Hindi

राम मंदिर शिलान्यास: जिन्होंने लिखी रामायण, शिमला में उन्हीं के मंदिर की मिट्टी लेना भूली VHP
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का उद्घाटन 5 अगस्त को होना है

विश्व हिंदू परिषद की ओर से शिमला सहित अन्य जिलों के प्रसिद्ध ओर पवित्र स्थलों की मिट्टी एकत्र कर ली है,लेकिन रामायण के रचियता भगवान वाल्मीकी के मंदिर की मिट्टी अभी तक विश्व हिंदू परिषद ने एकत्र नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 3:14 PM IST
  • Share this:
शिमला. अयोध्या में राम मंदिर (Aayodhya Ram Mandir ) के निर्माण में देव भूमि हिमाचल के प्रवित्र ओर प्रतिष्ठित स्थलों की मिट्टी और जल का इस्तेमाल किया जाएगा. इसके लिए विश्व हिंदू परिषद की ओर से हिमाचल (Himachal Pradesh) के अलग-अलग पवित्र स्थलों की मिट्टी और जल एकत्र किया जा रहा है. शिमला के भी प्रसिद्ध मंदिरों की मिट्टी विश्व हिंदू परिषद की ओर से एकत्र की गई है, जिसे अयोध्या (Aayodhya) भेजा जाएगा. हालांकि, अहम बात यह है कि वीएचपी वाल्मिकी मंदिर की मिट्टी (Soil) लेना ही भूल गया. सवाल पूछने पर कहा कि वह वाल्मिकी मंदिर से भी मिट्टी लेंगे.

विश्व हिंदू परिषद शिमला के अध्यक्ष आशुतोष ने कहा कि 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम जन्म भूमि पर श्री राम मन्दिर के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर शिलान्यास किया जाएगा.

शिमला से इन मंदिरों को चुना
शिलान्यास में देश भर के पवित्र स्थानों की मिट्टी व पवित्र नदियों व धार्मिक महत्व के सभी जलाशयों-कुओं का पवित्र जल अयोध्या भेजा जा रहा है. इसी कड़ी में शिमला के मन्दिरों, जिसमें हनुमान मन्दिर जाखू, तारा माता मन्दिर , श्यामला माता मन्दिर काली बाड़ी, संकट मोचन मन्दिर, कामना देवी मंदिर की पवित्र मिट्टी और भगवान परशुराम के पिता ऋषि जमदग्न की तपोस्थली तत्तापानी का पवित्र जल अयोध्या कुरियर से भेजा गया है. उन्होंने बताया कि देश की विभिन्न 427 पवित्र नदियों जिसमें गंगा, यमुना, सरस्वती का जल भी भेजा जा रहा हैं.
लॉकडाउन से बदला फैसला


उन्होंने कहा कि ये पहले तय हुआ था कि प्रत्येक प्रदेश से एक स्थान पर मिट्टी एकत्र करके भेजी जाए, लेकिन लॉकडाउन के कारण प्रत्येक जिले से अलग - अलग इसी प्रकार से पवित्र मिट्टी एवं पवित्र जल भेजा जा रहा है. इसी कड़ी में हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा माता मंदिर, चामुंडा माता, मां ज्वाला जी, चिंतपूर्णी व किन्नौर ओर लाहौल- स्पीति भी शामिल है.

जिन्होंने लिखी, रामायण उनके मंदिर की मिट्टी लेना भूली विश्व हिंदू परिषद
विश्व हिंदू परिषद की ओर से शिमला सहित अन्य जिलों के प्रसिद्ध ओर पवित्र स्थलों की मिट्टी एकत्र कर ली है,लेकिन रामायण के रचियता भगवान वाल्मीकी के मंदिर की मिट्टी अभी तक विश्व हिंदू परिषद ने एकत्र नहीं है. इस बात के जवाब में हिंदू परिषद के सदस्यों ने जवाब दिया कि वह जल्द ही वाल्मीकी मंदिर की मिट्टी भी एकत्र करवा लेंगे और उसे अयोध्या भेजा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading