Assembly Banner 2021

CAA पर बोले जेपी नड्डा- गांधी और नेहरू ने जो कहा, पीएम मोदी ने वो वादा पूरा किया

बीजेपी के दिग्गज नेता संशोधित नागरिकता कानून के पक्ष में लगातार बयान दे रहे हैं. (फोटो साभार: ANI)

बीजेपी के दिग्गज नेता संशोधित नागरिकता कानून के पक्ष में लगातार बयान दे रहे हैं. (फोटो साभार: ANI)

हिमाचल प्रदेश के शिमला में बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सीएए के पक्ष में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के साथ होने की बात कही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 8:55 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली हिंसा के बीच बीजेपी के दिग्गज नेता संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के पक्ष में लगातार बयान दे रहे हैं. इस बीच बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का एक बयान सामने आया है. हिमाचल प्रदेश के शिमला में बीजेपी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने सीएए के पक्ष में कांग्रेस के दिग्गज नेताओं के साथ होने की बात कही.

एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी, मनमोहन सिंह सभी ने कहा कि वे पाकिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों, जिन पर अत्याचार हुआ है, उन्हें इस देश में शरण देंगे, लेकिन वे ऐसा नहीं कर सके, इस काम को पीएम नरेंद्र मोदी ने किया. नड्डा ने कहा कि गांधी और नेहरू ने जो कहा, पीएम मोदी ने वह वादा पूरा कर दिखाया है.
नितिन गडकरी ने कहा- दो समूहों में विभाजित है सारी दुनियाइस बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का भी एक बयान सामने आया है. राजधानी दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया दो समूहों में विभाजित हो गई है. उन्होंने कहा कि एक समूह कट्टरपंथी और आतंकवादी है. जबकि दूसरा समूह समावेशी और लोकतांत्रिक है.




कानून पास होने के बाद हो रहा विरोध
आपको बता दें कि बीजेपी सरकार के कार्यकाल में बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के लिए संशोधित नागरिकता कानून संसद से पास किया गया. इस कानून के पास होने के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग इसका लगातार विरोध कर रहे हैं. इसके विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग के अलावा देश के कई भागों में लगातार प्रदर्शन हो रहा है.

दिल्ली में भड़की हिंसा
दिल्ली के उत्तर पूर्वी इलाके में इस कानून के विरोध और समर्थन को लेकर हिंसा की घटनाएं भी हुई हैं. दिल्ली में हुई हिंसा की घटनाओं में अब तक 38 लोगों की मौत होने की पुष्टि की गई है. वहीं, इन घटनाओं में 150 से ज्याादा लोगों के घायल होने की भी खबर है.

पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट
राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा के बाद एनसीआर और देश के अन्य राज्यों में पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां काफी चौकस नजर आ रही हैं. पुलिस पूरी तरह अलर्ट मोड पर है. दिल्ली में सुरक्षा चौकस करने और आम लोगों में विश्वास बहाली के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. दिल्ली के हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी जिले के खजूरी खास और दयालपुर इलाकों में शुक्रवार की सुबह सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है.

ये भी पढ़ें:

दिल्ली हिंसा: पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा, चाकू से हुई अंकित शर्मा की हत्या

CAA Protest: एक मार्च को शाहीन बाग में जुट सकती है भारी भीड़, दिल्ली पुलिस अलर्ट
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज