हिमाचल: वर्चुअल जन संवाद का सुझाओ नाम, CM जयराम ठाकुर देंगे 5 हजार इनाम
Shimla News in Hindi

हिमाचल: वर्चुअल जन संवाद का सुझाओ नाम, CM जयराम ठाकुर देंगे 5 हजार इनाम
सुझाव भेजने की अंतिम तिथि 15 अगस्त तय की गई है.

हिमाचल सरकार (Himachal Government) ने वर्चुअल जनसंवाद कार्यक्रम के आकर्षक नाम के लिए प्रदेशवासियों से सुझाव आमंत्रित किए हैं. आकर्षक नाम सुझाने वाले प्रतिभागी को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) 5000 रुपए की राशि बतौर इनाम देंगे.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) अब पीएम मोदी (PM Narendra Modi) की मन की बात कार्यक्रम की तर्ज पर वर्चुअल जनसंवाद करेंगे. महीने में एक बार मुख्यमंत्री वर्चुअल जनसंवाद करेंगे जो टीवी, रेडिया और सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म पर प्रसारित होगा. सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक, कोरोना महामारी से उत्पन्न हुए संकट में भी मुख्यमंत्री वर्चुअली प्रदेशवासियों के संपर्क में रहे और जनसमस्याओं को जानने का हरसंभव प्रयास कर रहे हैं. इसी ध्येय को साकार करने की दृष्टि से मुख्यमंत्री प्रदेशवासियों के लिए एक कार्यक्रम शुरू करना चाहते हैं.  कार्यक्रम में प्रदेशवासियों से जुड़ी बातों का जिक्र किया जाएगा.

सरकारी प्रवक्ता का कहना है कि इस कार्यक्रम के लिए प्रदेश में आम नागरिक अपने सुझाव साझा कर सकते हैं. ऐसे में प्रदेशवासी राज्य में हुई घटनाओं, प्रेरणादायक कार्यों या हिमाचल सरकार के कार्यों एवं योजनाओं के संबंध में अपने सुझाव साझा कर सकते हैं. इस कार्यक्रम का प्रसारण हिमाचल प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग और हिमाचल.माईगव द्वारा किया जाएगा.

सरकार का ऐलान



राज्य सरकार ने वर्चुअल जनसंवाद कार्यक्रम के आकर्षक नाम के लिए प्रदेशवासियों से सुझाव आमंत्रित किए हैं. आकर्षक नाम सुझाने वाले प्रतिभागी को मुख्यमंत्री 5000 रुपए की राशि बतौर इनाम प्रदान करेंगे. सुझाव भेजने की अंतिम तिथि 15 अगस्त तय की गई है. लोग सरकारी बेव पोर्टल माईगव से कार्यक्रम का नाम साझा कर सकते हैं और इससे संबंधित सुझाव भी दे सकते हैं.
ये भी पढ़ें: Ram Mandir Bhumi Pujan: गवर्नर कलराज मिश्र ने दी बधाई, CM गहलोत बोले- भाईचारे का बने प्रतिक

सरकार का बड़ा फैसला

मालूम हो कि हिमाचल में पशुपालन विभाग की गौसदन, गौशाला और गौ अभयारण्य योजना को सहायता और राष्ट्रव्यापी कृत्रिम गर्भाधान कार्यक्रम चरण-दो का शुभारंभ हो गया है. इस दौरान सीएम जयराम ठाकुर ने कहा, डेढ़ साल के भीतर हिमाचल प्रदेश को देश का बेसहारा पशु मुक्त राज्य बनाने के प्रयास किया जाएगा. उन्होंने वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए सभी जिलों के डीसी, पशुपालन अधिकारी और गौसदन संचालकों से बात भी की और सुझाव भी दिए. मीडिया से बात करते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि जब प्रदेश प्लास्टिक मुक्त हो सकता है तो बेसहारा पशु मुक्त भी प्रदेश को किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज