vidhan sabha election 2017

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अजय माणिकराव वीरभद्र सिंह डीए केस की सुनवाई से हटे

News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 2:27 PM IST
सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अजय माणिकराव वीरभद्र सिंह डीए केस की सुनवाई से हटे
CM virbhadra Singh. (File Photo)
News18Hindi
Updated: December 8, 2017, 2:27 PM IST
सुप्रीम कोर्ट में चल रहे हिमाचल प्रदेश के सीएम वीरभद्र सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में जस्टिस अजय माणिकराव खानविलकर ने इस संबंध में खुद को केस से अलग कर लिया है. न्यूज एंजेंसी एएनआई के अनुसार, उन्होंने इस मामले में सुनवाई करने से इंकार करते हुए खुद को अलग कर लिया है. हालांकि उनके इस फैसले के पीछे के कारणों का पता नहीं चल पाया है.

जस्टिस खानविलकर हिमाचल हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश भी रहे चुके हैं. 4 अप्रैल 2013 को उन्होंने चीफ जस्टिस की शपथ ली थी. बाद में वे मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायधीश बनाए गए थे.

ये है मामला
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मामले में 83 वर्षीय नेता, उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह और पुत्र विक्रमादित्य को आरोपी बनाया है. ईडी ने सीबीआई की ओर से आपराधिक शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद संज्ञान लेते हुए सितंबर 2015 को मुख्यमंत्री और अन्य पर मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया था.

आय से अधिक संपत्ति मामले में सिंह और उनकी पत्नी के खिलाफ दर्ज एफआईआर को रद्द करने के हाईकोर्ट के इनकार के बाद ही सीबीआई ने 31 मार्च को उनके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था. जांच एजेंसी सिंह और उनके परिजनों पर 2009 से 2011 के बीच आय के ज्ञात स्रोत से अधिक धन इकट्ठा करने के आरोपों की जांच कर रही है. इस दौरान वीरभद्र सिंह केन्द्रीय इस्पात मंत्री थे.

इनकम टैक्स रिटर्न केस में सुप्रीम कोर्ट से मिली है राहत
हाल ही में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को इनकम टैक्स रिटर्न मामले में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सर्वौच्च न्यायालय ने इनकम टैक्स विभाग की सीएम की आयकर रिटर्न की रि-असस्मेंट को लेकर दाखिल की गई याचिका को खारिज कर दिया है.

बता दें कि सीएम वीरभद्र सिंह द्धारा 2009-10 में पेश की गई इनकम टैक्स रिटर्न की दोबारा असेस्मेंट करवाने के लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पटीशन (एसएलपी) लगाई थी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर