लाइव टीवी

रिज टैंक की दरारों को भरने के लिए दोबारा होगी टेंडर प्रक्रिया

News18 Himachal Pradesh
Updated: October 10, 2019, 10:51 PM IST
रिज टैंक की दरारों को भरने के लिए दोबारा होगी टेंडर प्रक्रिया
निगम ने इस काम को पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के विशेषज्ञों की राय पर ही करवाने का फैसला लिया है.

शिमला जल प्रबंधन निगम के प्रबंध निदेशक धर्मेंद्र गिल ने बताया कि रिज के टैंक की दरारों को भरने का काम किया जाना है. इसके लिए टेंडर दोबारा से मंगवाया जाना है. पहले के टेंडर प्रक्रिया को रद्द कर दिया गया है.

  • Share this:
शिमला. शहर के पानी की सप्लाई के लिए बनाए गए मुख्य टैंक की दरारों (Cracks of main tank) को भरने के लिए दोबारा से टेंडर (Tender) किया जाना है. शिमला जल प्रबंधन निगम (Shimla Water Management Corporation) की बीओडी ने पुराना टेंडर रद्द कर दिया है. बीओडी की बैठक में मामला आने के बाद जल प्रबंधन निगम ने यह फैसला लिया है. टैंक की दरारों को भरने के लिए निगम ने आवेदन मांगे थे जिसमें दो ही कंपनियो ने आवेदन किया था. अब दोबारा से टैंक की दरारों को भरने के लिए आवेदन मांगे जाएंगे, इसमें कम से कम तीन आवेदन आने पर ही टेंडर Tender) का आवंटन किया जा सकेगा.

निगम ने इस काम को पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज (Punjab Engineering College) के विशेषज्ञों की राय पर ही करवाने का फैसला लिया है. इसके लिए दरारों को सीमेंट की बजाय किसी अन्य तकनीक से भरी जानी है. मूल रूप से बिजली प्रोजेक्टों के डैम में आई दरारों को भरने के लिए जिस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है, उसी तकनीक का इस्तेमाल टैंक में किया जाना प्रस्तावित है.

रिज मैदान के नीचे बने टैंक में नौ चैंबर हैं

रिज मैदान (Ritz Maidan) के नीचे बने टैंक में नौ चैंबर हैं. इनमें से चार चैंबर्स में दरारे बनी हैं. इन दरारों को रोकने के लिए नगर निगम प्रशासन ने पहले आईआईटी रुड़की (IIT Roorkee) और एनजेवीएनएल के माध्यम से रिपोर्ट तैयार करवाई. इन दरारों को आगे बढ़ने से कैसे रोका जा सकता है. कैसे इन दरारों को भरा जा सकता है. इस पूरे मसले पर रिपोर्ट बनाई गई थी. इसके बाद एसजेपीएनएल ने पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज के विशेषज्ञों से इस रिपोर्ट की जांच करवाई. टीम ने रिज के टैंक का निरीक्षण भी किया.

एसजेपीएनएल अब इस काम का टेंडर तभी आवंटित करेगी जब कम से कम तीन कंपनियों से आवेदन मिल जाएंगे. इनसे कम आवेदन होने की स्थिति में किसी सूरत में काम का आवंटन नहीं हो सकेगा. अगली बैठक में शीघ्र ही टेंडर करने का काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. शिमला जल प्रबंधन निगम के प्रबंध निदेशक धर्मेंद्र गिल ने बताया कि रिज के टैंक की दरारों को भरने का काम किया जाना है. इसके लिए टेंडर दोबारा से मंगवाया जाना है. पहले के टेंडर प्रक्रिया को रद्द कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें - अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा : पहली बार हुआ महिला कुश्ती प्रतियोगिता का आयोजन

ये भी पढ़ें - नगर निगम शिमला में उत्कृष्ट कार्य करने वाले मेयर के हाथों होंगे सम्मानित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 10:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...