पशुपालन विभाग के कर्मचारियों की मांगे नहीं हुई पूरी, जताया रोष

Ranbir Singh | ETV Haryana/HP
Updated: September 17, 2017, 7:03 PM IST
पशुपालन विभाग के कर्मचारियों की मांगे नहीं हुई पूरी, जताया रोष
पशुपालन विभाग के कर्मचारी प्रेसवार्ता करते हुए
Ranbir Singh | ETV Haryana/HP
Updated: September 17, 2017, 7:03 PM IST
हिमाचल प्रदेश में बीते चार साल से लंबित मांगे पूरी नहीं होने से पशुपालन विभाग में कार्यरत करीब 5 हजार कर्मचारी प्रदेश सरकार के खिलाफ गुस्से में हैं.

वैटनरी फार्मासिस्ट कर्मचारी महासंघ ने आज सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. इससे पहले राजधानी शिमला में एक प्रेसवार्ता का आयोजन भी किया गया.

कर्मचारियों का आरोप है कि वैटनरी फार्मासिस्टों के पदनाम बहाली से लेकर चीफ वैटनरी फार्मासिस्ट की ग्रेड-पे बढ़ाने को लेकर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से 53 बार और पशुपालन विभाग के मंत्री अनिल शर्मा से करीब 64 बार मुलाकात की गई लेकिन हर बार आश्वासन ही मिला लेकिन अब तक कोई कोई मांग पूरी नहीं की गई. कर्मचारियों का कहना है कि इसके अलावा भी कई मांगो को लेकर अब तक आश्वासनों के अलावा कुछ भी नहीं मिला है.

वैटनरी फार्मासिस्ट कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष दिनेश नेगी ने कहा कि सरकार के विरोध में 20 से 22 सितंबर तक काला बिल्ला लगाकर प्रदर्शन किया जाएगा. साथ ही यह चेतावनी दी गई कि अगर सभी मांगें अगर जल्द पूरी नहीं की गई तो आने वाले चुनावों में सरकार को इसके परिणाम भुगतने होंगे.
First published: September 17, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर