सरकार पर हिमाचल बेचने का आरोप क्यों लगा और फिर क्या हुआ

धारा 118 में संशोधन की एक खबर सोशल मीडिया में इस कदर वायरल हो गई है, जिसने जयराम सरकार को परेशानी में डाल दिया है.

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 9, 2019, 7:22 PM IST
सरकार पर हिमाचल बेचने का आरोप क्यों लगा और फिर क्या हुआ
गैर हिमाचलियों के जमीन खरीदने की अपवाह उड़ गई
Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 9, 2019, 7:22 PM IST
हिमाचल प्रदेश में धारा 118 में संशोधन की एक खबर सोशल मीडिया में इस कदर वायरल हो गई है, जिसने जयराम सरकार को परेशानी में डाल दिया है. यह खबर वैसे तो बहुत पुरानी है, लेकिन कुछ दिनों से सोशल मीडिया में वायरल हो रही थी और सोशल मीडिया में लोग सरकार को खूब खरीखोटी सुना रहे थे. सरकार ने इसकी गंभीरता को समझते हुए रविवार को अधिकारिक बयान जारी कर इस खबर का खंडन किया है. इस खबर के मुताबिक धारा 118 में संशोधन कर राज्य में कार्यरत बाहर के अधिकारियों और कर्मचारियों को हिमाचल में जमीन लेने में छूट दी गई है. इस खबर के अनुसार गैर हिमाचली अब अपने बच्चों के नाम प्रदेश में जमीन खरीद सकेंगे.

सरकार ने कहा-118 में संशोधन नहीं किया गया

मीडिया में इस खबर वायरल होने के बाद लोग सरकार पर हिमाचल को बेचने का आरोप मढ़ने लगे. वहीं आज इस पूरे मामले पर सरकार ने साफ किया है कि धारा 118 में न कोई संशोधन किया गया है और न ही भविष्य में ऐसी कोई योजना है. न ही ऐसी कोई नोटिफिकेशन सरकार की तरफ से जारी की गई है.

धारा 118 के तहत कोई भी गैर हिमाचली जमीन नहीं खरीद सकता है

भाजपा के नेताओं ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए इन अफवाहों का खंडन करना शुरू कर दिया है. गौरतलब है कि हिमाचल में भू सुधार अधिनियम की धारा 118 के तहत कोई भी गैर हिमाचली जमीन नहीं खरीद सकता है.

यह भी पढ़ें: रोहतांग टनल निर्माण को लेकर सीएम जयराम ठाकुर ने BRO से ​किया ये आग्रह

दहेज के चलते 28 वर्षीय योगिता की ली जान, पति, सास और ननद गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 9, 2019, 7:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...