खतरा: शिमला के हैरिटेज म्यूजियम व रीगल बिल्डिंग की दरकी दीवारें

शिमला में सैलानियों को आकर्षित करने के लिए बनाया गया शिमला हैरीटेज म्यूजियम खुद खतरे में है. म्यूजियम की बिल्डिंग में दरारें आ गई हैं.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 23, 2019, 8:01 PM IST
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 23, 2019, 8:01 PM IST
हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी शिमला में सैलानियों को आकर्षित करने के लिए बनाया गया शिमला हैरीटेज म्यूजियम खुद खतरे में है. म्यूजियम की बिल्डिंग में दरारें आ गई हैं और इसके अस्तित्व पर खतरा मंडराने लगा है. आलम यह है कि इसे लेकर न तो पर्यटन विभाग संजीदा और न ही और ना ही नगर निगम. इस म्यूजियम में शिमला आने वाला हर सैलानी जाता है और ऐसे में उनकी जान भी संकट में पड़ सकती है.

खतरे में है रीगल बिल्डिंग

रीगल बिल्डिंग-Reagal Building
पर्यटकों के आकर्षक का केंद्र लक्कड़ बाजार में रीगल बिल्डिंग भी खतरे में है.


पर्यटकों के आकर्षक का केंद्र लक्कड़ बाजार में रीगल बिल्डिंग भी खतरे में है. यह भवन कई सालों से असुरक्षित घोषित हो रखा है, बावजूद इसके इसमें कई व्यवसायिक गतिविधियां चल रही हैं। इस भवन के सामने से कई अफसर रोज गुजरते हैं, लेकिन उनका ध्यान भी इस असुक्षित भवन की तरफ नहीं जाता है.

बरसात में इन बिल्डंगों के गिरने का खतरा ज्यादा

यहां तक कि नगर निगम के आला अधिकारी, जिनके कंधों पर शहर का सारा दारोमदार है वे भी यहां एक पर्यटक की तरह ही टहलते दिखते हैं और कोई भी कार्रवाई नहीं करते हैं. इन दिनों बरसात का समय है और ऐसे में असुरक्षित भवनों के ढहने का खतरा बना रहता है, लेकिन भी न तो नगर निगम प्रशासन और न ही जिला प्रशासन इसकी ओर कोई ध्यान दे रहा है.

रीगल बिल्डिंग को खाली करने का हो चुका है आदेश
Loading...

हैरिटेज बिल्डिंग को लेकर निगम के मुख्य वास्तुकार राजीव शर्मा का कहना है कि रीगल बिल्डिंग को खाली करने के आदेश जारी हुए हैं लेकिन मामला लोक निर्माण विभाग के पास गया है. अब दोबारा विजिट किया गया है और जल्द ही सभी रिपोर्ट को इकट्ठा कर अंतिम रिपोर्ट तैयार की जाएगी.

असुरक्षित भवनों की सूची तैयार की जा रही है

उन्होंने कहा जहां तक शहर की अन्य हैरिटेज बिल्डिंग का सवाल है तो लोक निर्माण विभाग इन सभी भवनों की देखरेख करता है. नगर निगम शहर के निजी असुरक्षित भवनों की रिपोर्ट ही तैयार करता है. उन्होंने बताया कि शहर के असुरक्षित भवनों की सूची तैयार की जा रही है.
First published: July 23, 2019, 8:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...