नगर निगम शिमला के लिए अब रहेगा एक ही डीएफओ

नगर निगम शिमला के पास दो डीएफओ थे. इनमें से 34 वार्ड डीएफओ अर्बन और 15 वार्ड डीएफओ रूरल के अधीन थे.


Updated: May 17, 2018, 3:55 PM IST
नगर निगम शिमला के लिए अब रहेगा एक ही डीएफओ
मीडिया से चर्चा करते हुए गोविंद सिंह ठाकुर.

Updated: May 17, 2018, 3:55 PM IST
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के नगर निगम में अब दो नहीं बल्कि एक ही डीएफओ काम संभालेगा. वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने वन विभाग के प्रपोजल को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी दे दी है. अब अंतिम मंजूरी सीएम जयराम ठाकुर से ली जाएगी.

दरअसल नगर निगम शिमला में लोगों को वन विभाग से संबंधित कामों के लिए भटकना पड़ता था. नगर निगम शिमला के पास दो डीएफओ थे. इनमें से 34 वार्ड डीएफओ अर्बन और 15 वार्ड डीएफओ रूरल के अधीन थे. ऐसे में लोगों को भारी दिक्कतें पेश आ रही थीं. अब पूरे नगर निगम के लिए मात्र एक ही डीएफओ रहेगा. वन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने इसकी पुष्टि की है.

इसके साथ ही शिमला नगर निगम क्षेत्र में गहरा रही पेयजल समस्या के लिए अब वन विभाग ने प्रारूप तैयार किया है. इसके तहत पेड़ लगाकर पानी को संरक्षित किया जाएगा. स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 20 करोड़ 45 लाख रुपए का प्रपोजल तैयार किया गया है. इसके साथ ही खाली पड़ी निजी भूमि और विभागों की भूमि पर भी पेड़ लगाए जाएंगे. इस अभियान के तहत 14 हजार पेड़ लगाने का लक्ष्य रखा गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर