HC के आदेशों पर घमासान: ये हैं शिमला में 6 सील्ड और 8 रिस्ट्रिक्टिड रोड

शिमला में पुराने जमाने से ही पैदल चलने कर प्रचलन था और वाहनों की संख्या भी सीमित थी. ऐसे में ज्यारा परेशानी नहीं होती थी, लेकिन अब वाहनों की संख्या बढ़ी है और परेशानी में भी इजाफा हुआ है.

Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 2:08 PM IST
HC के आदेशों पर घमासान: ये हैं शिमला में 6 सील्ड और 8 रिस्ट्रिक्टिड रोड
शिमला में सील्ड रोड का मुद्दा.
Reshma Kashyap | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 2:08 PM IST
हिमाचल की राजधानी शिमला में सील्ड और रिस्ट्रिक्टिड रोड को लेकर हाईकोर्ट के आदेश के बाद घमासान मचा हुआ है. वकील और पुलिस आमने सामने है. पांच दिन से विरोध प्रदर्शन का दौर चल रहा है. जिला कोर्ट में कामकाज ठप्प है.

ब्रिटिश काल में केवल इन्हें थी इजाजत
ब्रिटिश काल में शिमला समर कैपिटल हुआ करती थी. यहां पर बहुत से भवन और मार्ग ऐसे हैं, जो ब्रिटिश काल की याद दिलाते हैं. शिमला में सील्ड और रिस्ट्रिक्टिड रोड्स की बात की जाए तो यहां 6 सील्ड और 8 रिस्ट्रिक्टिड मार्ग हैं. आजादी से पहले इन मार्गों पर केवल तीन ही लोगों को वाहन ले जाने की अनुमति थी, जिनमें ये गवर्नर जनरल ऑफ इंडिया, कंमाडर इन चीफ और इंडिया और गवर्नर ऑफ पंजाब इन मार्गों से गुजर सकते थे. क्योंकि शिमला में पुराने जमाने से ही पैदल चलने कर प्रचलन था और वाहनों की संख्या भी सीमित थी. ऐसे में ज्यारा परेशानी नहीं होती थी, लेकिन अब वाहनों की संख्या बढ़ी है और परेशानी में भी इजाफा हुआ है.

एक साल पहले लाया गया था एक्ट

साल 2008 में शिमला में रोड यूजर्स एंड पैडेस्ट्रियन एक्ट लाया गया. इसके तहत शिमला में सील्ड और रिस्ट्रिक्टिड रोड्स को चिन्हित किया गया. इन मार्गों पर जाने के लिए गाडियों की आवाजाही के लिए परमिट की जरूरी किया गया. रिस्ट्रिक्टिड रोड्स पर परमिट जिला उपायुक्त कार्यालय और सील्ड रोड के लिए परमिट स्टेट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम से जारी किया जाता है.

Shimla Sealed roads
शिमला में कई मार्गों पर गाड़ी ले जाने पर स्पीड लिमिट है.


इन्हें मिलता है परमिट
Loading...

इन दोनों के अलावा, परमिट बनाने की अनुमति कहीं से भी नहीं मिलती है. वहीं इन रोड पर बिना परमिट के जाने वाले लोगों पर पैनेल्टी भी लगाई जाती है. ऐसे मार्गों पर परमिट वहीं लोग बनवाते हैं, जिनके कार्यालय इन मार्ग पर होते हैं या घर इन मार्गों पर होते हैं. वहीं ऐसे लोग भी इन रास्तों के परमिट बनाते हैं जिनके ऑफिस या कार्यालय के लिए ये शार्टेस्ट रूट होता है.

शिमला में कई मार्गों पर गाड़ी ले जाना वर्जित है.
शिमला में कई मार्गों पर गाड़ी ले जाना वर्जित है.


तीन हजार तक जुर्माना
इन मार्गों पर स्पीड लिमिट भी है, जो कि 20 किलोमीटर प्रति घंटा रहती है. वहीं इन मार्गों पर बिना परमिट के आने पर 1500 से लेकर 3000 रुपये तक का जुर्माना रखा गया है.

ये हैं सील्ड मार्ग

  1. छोटा शिमला से शिमला क्लब.

  2. लोअर बायफर्केशन ऑफ इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज (आईजीएमसी) से लक्कड बाजार.

  3. जोधा निवास से रिट्ज सिनेमा हॉल (हॉली लॉज के पीछे).

  4. होटल व्हाइट से रिगल सिनेमा.

  5. कैनेडी चौक से गॉर्टन कैसल.

  6. एसबीआई चौक से सीटीओ चौक.

  7. स्कैंडल प्वाइंट से कालीबाड़ी तक.

  8. यूएस क्लब से कॉंबरमेयर ब्रिज तक.


ये हैं रिस्ट्रिक्टिड रोड्स

  1. कैनेडी हाउस चौक से बालूगंज.

  2. कार्ट रोड से डीसी कार्यालय.

  3. संजौली चौक से लोअर बायफर्केशन ऑफ इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज (आईजीएमसी).

  4. रामचंद्र चौक (फॉरेस्ट लॉज) से जोधा निवास से होते हुए यूएस क्लब.

  5. कार्ट रोड से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया चौक तक.

  6. शैलेडे स्कूल से जोधा निवास पार्किंग.

  7. ऑकलैंड हाउस स्कूल से होटल व्हाइट

  8. रिगल सिनेमा से जोधा निवास से होते हुए जिला उपायुक्त आवास-होटल ड्रीम लैंड.


ये भी पढ़ें: जानिए, क्या है शिमला शहर की दशकों पुरानी पहचान

येलो लाइन मुद्दा:BJP के अपने ही पार्षदों का MC के खिलाफ धरना

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 2:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...